द्रोणाचार्य और ध्यानचंद पुरस्कारों की 11 सदस्यीय चयन समिति के अध्यक्ष होंगे जस्टिस मुद्गल

इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) 2013 स्पॉट फिक्सिंग प्रकरण की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त समिति के प्रमुख जस्टिस मुकुल मुद्गल को इस साल द्रोणाचार्य और ध्यानचंद पुरस्कार विजेताओं को चुनने के लिए 11 सदस्यीय चयन समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के सेवानिवृत्त चीफ जस्टिस मुद्गल की अगुआई वाली समिति का चयन खेल मंत्रालय ने कर लिया है, लेकिन अभी तक इसकी औपचारिक घोषणा नहीं की है। समिति के एक सूत्र ने बताया, ‘बैठक 16 सितंबर को दिल्ली में होगी। चयन समिति में कॉमनवेल्थ गेम्स के पूर्व स्वर्ण पदक विजेता एयर पिस्टल निशानेबाज समरेश जंग और बैडमिंटन खिलाड़ी अश्विनी पोनप्पा को भी जगह मिली।

समिति में पूर्व राष्ट्रीय मुक्केबाजी कोच जीएस संधू, हॉकी कोच एके बंसल और तीरंदाजी कोच संजीव सिंह के अलावा भारतीय खेल प्राधिकरण के विशेष महानिदेशक ओंकार केडिया और संयुक्त सचिव (खेल) इंदर धमीजा शामिल हैं।’ समिति में दो खेल पत्रकार और टारगेट ओलंपिक पोडियम योजना के सीईओ कमांडर राजेश राजगोपालन को भी शामिल किया गया। चार वर्षो में लगातार असाधारण और शानदार काम करने के लिए कोचों को द्रोणाचार्य पुरस्कार दिया जाता है।

ध्यानचंद सम्मान खिलाडि़यों को उनकी जीवन की उपलब्धियों के लिए दिया जाता है, जिसके सक्रिय करियर और संन्यास के बाद खेल को दिया योगदान शामिल है। परंपरा से हटते हुए इस साल खेल पुरस्कार प्रत्येक वर्ष की तरह 29 अगस्त को महान हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन की जगह 25 सितंबर को दिए जाएंगे। एशियन गेम्स के साथ तारीखों में टकराव के कारण तारीखों में बदलाव किया गया है।

You May Also Like

English News