धनतेरस पर इस शुभ मुहूर्त में करें भगवान कुबेर की पूजा, होगी धन की वर्षा…

दीपावली से पहले धनरेसर के दिन खरीदारी करना शुभ माना जाता है। इस बार आपको शुभ मुहूर्त में खरीदारी के लिए सिर्फ 48 मिनट का समय मिलेगा। ऐसे में आप अपनी राशि के अनुसार खरीदारी कर सकते हैं।धनतेरस पर इस शुभ मुहूर्त में करें भगवान कुबेर की पूजा, होगी धन की वर्षा...नरक चतुर्दशीः अगर चारमुखी दीपक के साथ रखेंगे ये खास चीज, तो होने लगेगी धन की बारिश

आचार्य सुशांत राज ने बताया कि धनतेरस के दिन धन के देवता कुबेर और आयुर्वेद के प्रणेता भगवान धनवंतरी के पूजन के साथ इस कुछ नई चीज खरीदने का खास महत्व होता है। शास्त्रों में वर्णित कथाओं के अनुसार समुद्र मंथन के दौरान कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी के दिन भगवान धनवंतरी अपने हाथों में अमृत कलश लेकर प्रकट हुए। 

कहते हैं कि भगवान धनवंतरी श्रीविष्णु के अंशावतार हैं। उनके प्रकट होने के उपलक्ष्य में ही धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है। उनके हाथ में कलश था, इसलिए बर्तन खरीदने की परंपरा चल पड़ी। प्रदोष काल मंगलवार शाम सात बजकर 54 मिनट पर शुरू होगा और आठ बजकर 42 मिनट तक रहेगा। यानी शुभ मुहूर्त में खरीदारी के लिए 48 मिनट का वक्त होगा। 

इस दिन दिन ढलने के बाद मिट्टी के दीये को रखकर उसमें तिल भरें और फिर दीप प्रज्ज्वलित करें। दीये को दक्षिण दिशा में रखकर पवित्र मन से दीपदान करें। इससे यमराज प्रसन्न होते हैं। साथ ही भगवान कुबेर और धनवंतरी को खीर का भोग लगाएं। पुष्प, अबीर, गुलाल, रोली अर्पण करें। इसके बाद एक दीपक को घर के दरवाजे पर भी रखें। 

राशि के अनुसार खरीदारी

मेष: मूंगा धातु, ताम्र पात्र, लाल वस्त्र
  
वृष: सफेद वस्त्र,चांदी की वस्तु, ओपल रत्न
   
मिथुन: स्टील धातु, पन्ना,हरे कपड़े,  फल

 कर्क: चांदी, श्वेत वस्त्र, मोती रत्न
    
सिंह: सोना,  गुलाबी वस्त्र, कांस्य धातु, माणिक्य रत्न
   
कन्या: ताम्र पात्र, हरा कपड़ा, पन्ना रत्न, फल 

तुला: श्वेत वस्त्र,  ओपल रत्न, सोना-चांदी,
   
वृश्चिक: लाल वस्त्र, तांबे का पात्र, मूंगा
 
धनु: सोना,  पीला कपड़ा, अष्टधातु, पुखराज रत्न, पीले फल

मकर और कुंभ: अष्टधातु, स्टील, श्याम वस्त्र, नींबू
 
मीन: सोना, अष्टधातु, पीला कपड़ा, पुखराज रत्न, पीले फल 

You May Also Like

English News