धवन को ऊँचाई के शिखर तक पहुंचाने में दो बच्चों की मां का बड़ा हाथ

भारतीय क्रिकेट टीम में ‘गब्बर’ के नाम से पहचाने जाने वाले शिखर धवन का आज जन्मदिन है। शिखर का जन्म 5 दिसंबर, 1985 को दिल्ली में हुआ था। विकेट कीपर के रूप में क्रिकेट खेलना शुरू करने के बाद धीरे-धीरे बल्लेबाजी की तरफ उनका ध्यान बढ़ता गया। 1999-2000 में विजय हजारे ट्रॉफी के लिए धवन का दिल्ली अंडर-16 क्रिकेट टीम में चयन हुआ।

धवन को ऊँचाई के शिखर तक पहुंचाने में दो बच्चों की मां का बड़ा हाथ

इस टूर्नामेंट में धवन सिर्फ एक मैच खेल पाए और 11 रन ही बना पाए थे लेकिन अगले साल ही इस कोटे को पूरा करते हुए 2000-2001 में उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी में सबसे ज्यादा रन बनाने का कारनामा कर दिखाया। शिखर ने इसमें 84 के औसत से 755 रन बनाए थे।   

 2003 में वह दिल्ली अंडर-19 क्रिकेट टीम के कप्तान बने और 2004 में अंडर-19 वर्ल्ड कप के लिए भी उनका चयन होगा। शिखर ने स्कॉटलैंड के खिलाफ भारत के पहले मैच में शानदार 155 रन ठोके थे जिस कारण उन्हें मैन ऑफ द मैच का अवार्ड भी मिला था। इस वर्ल्ड कप में शिखर ने सबसे ज्यादा रन बनाए थे। जिसमे तीन शतक और एक अर्धशतक भी शामिल था। शानदार प्रदर्शन की बदौलत ही उन्हें मैन ऑफ द सीरीज का खिताब भी मिला।
 
घरेलू मैचों में अच्छे प्रदर्शन के चलते 2010 में ऑस्ट्रेलिया टीम के खिलाफ वनडे टीम में शिखर धवन का चयन हो गया। सलामी बल्लेबाज के तौर पर खेलने उतर धवन इस मैच की दूसरी गेंद पर ही बिना रन बनाए पैवेलियन वापस लौट गए थे। इसके बाद के मैचों में वो कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए और टीम से बाहर का रास्ता देखना पड़ा।
 
टीम में वापसी करते हुए 2013 में इंग्लैंड में खेले जाने वाली आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में टूर्नामेंट के पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ धवन ने 114 रन का शानदार पारी खेली। इसके बाद वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत के दूसरे मैच में भी धवन ने शतकीय पारी खेलते हुए 102 रनों की पारी खेली। इस टूर्नामेंट में धवन 90।75 की औसत से 363 रन बनाए और उन्हें मैन ऑफ द सीरीज चुने गए। शिखर धवन के शानदार प्रदर्शन की बदौलत के साथ ही भारत आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी का चैंपियन भी बना।
 
करियर के पहले टेस्ट मैच में शिखर धवन ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए 85 गेंदों पर ही शतक ठोक डाला और टेस्ट डेब्यू मैच में सबसे तेज शतक बनाने के मामले में वर्ल्ड रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया। इस मैच में धवन ने पहली पारी में 185 रन बनाए थे। क्रिकेट की दुनिया में कई रिकॉर्ड्स अपने नाम करने वाले शिखर धवन की प्रेम कहानी भी काफी दिलचस्प है। क्रिकेटर शिखर धवन को ब्रिटिश मूल की बॉक्सर आयशा पहली ही नजर में पंसद आ गई थी। दोनों की लव स्टोरी फेसबुक से शुरू हुई थी और लव स्टोरी को हरभजन सिंह ने अंजाम तक पहुंचाया।
 
दरअसल आयशा हरभजन सिंह की फेसबुक पर फ्रेंड थीं और हरभजन ने ही सबसे पहले शिखर को आयशा की तस्वीर दिखाई थी। तस्वीर देखते ही शिखर को आयशा पंसद आ गई और हरभजन ने शिखर को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजने को कहा। थोड़ा डरते हुए शिखर ने फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी और वो आयशा के जरिए तुरंत एक्सेप्ट भी कर ली गई। उसके बाद इन फेसबुक पर दोनों की बातचीत होने लगी और दोनों के बीच प्यार हो गया।  आयशा शिखर से उम्र में 10 साल बड़ी हैं। दोनों के बीच जब प्यार बढ़ा तो दोनों ने इस प्यार को शादी का रूप दे दिया। शिखर की ये जहां पहली शादी थी वहीं आयशा की यह दूसरी शादी है। आयशा को पहली शादी से दो बेटियां है और शिखर के साथ उन्हें एक बेटा है।

You May Also Like

English News