धोनी ये तरकीब अपनाएंगे तो नहीं होना पड़ेगा टी20 टीम से बाहर: सौरव गांगुली

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने संन्यास का दबाव झेल रहे महेंद्र सिंह धोनी को टी20 क्रिकेट में सफल होने का गुरु मंत्र दिया है। गांगुली का मानना है कि धोनी में अभी काफी क्रिकेट बची है और टी20 क्रिकेट में उन्हें अपनी सिर्फ सोच में बदलाव करना जरूरी है।धोनी ये तरकीब अपनाएंगे तो नहीं होना पड़ेगा टी20 टीम से बाहर: सौरव गांगुली

जानिए, रोहित शर्मा के लिए क्यों इतना खास है ’13 नवंबर’ का दिन, जो कभी नहीं भूलते

अजित अगरकर और वीवीएस लक्ष्मण समेत कुछ पूर्व भारतीय क्रिकेटरों ने हाल ही में टी20 क्रिकेट में धोनी के भविष्य पर सवाल खड़े किए थे। इस पर गांगुली ने कहा, ‘वन-डे की तुलना में धोनी का टी20 इंटरनेशनल में रिकॉर्ड बेहतर नहीं है। उम्मीद है कि कोहली और टीम प्रबंधन उनसे बात करेंगे। धोनी में काफी क्षमता है। अगर टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में वो अपनी सोच बदले तो बहुत सफल होंगे।’

न्यूजीलैंड के खिलाफ राजकोट में संपन्न दूसरे टी20 इंटरनेशनल मैच में 197 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया एक समय 97 रन पर चार विकेट गंवाकर संघर्ष कर रही थी। तब धोनी क्रीज पर आए और विराट कोहली के साथ टीम इंडिया की पारी संवारने की कोशिश की। हालांकि, धोनी ने धीमी पारी खेली, जिसकी वजह से टीम इंडिया यह मैच 40 रन से हार गई।

सौरव गांगुली का मानना है कि धोनी में अभी काफी क्रिकेट बची है, विशेषकर वन-डे के लिए। उन्होंने कहा, ‘वन-डे में धोनी का कोई तोड़ नहीं है। मेरे ख्याल से वन-डे क्रिकेट में उन्हें खेलना जारी रखना चाहिए, लेकिन टी20 इंटरनेशनल में उन्हें अपनी सोच बदलना होगी। टी20 में धोनी को खुलकर खेलना चाहिए। यह चयनकर्ताओं पर निर्भर करेगा कि वो उन्हें खेलने का कैसा मौका देते हैं।’ 

वहीं भारत-श्रीलंका के बीच आगामी टेस्ट सीरीज के बारे में गांगुली ने कहा, ‘टीम इंडिया जीत की दावेदार है। श्रीलंका की तुलना में टीम इंडिया काफी अच्छी है। हाल ही में उसने श्रीलंका को उसके घर में सभी प्रारूपों में मात दी थी। बहरहाल, मुझे उम्मीद है कि यह सीरीज रोमांचक होगी।’

You May Also Like

English News