नई तकनीक: ‘प्लांट टैटू सेंसर’ पौधों के पानी को करेगा ट्रैक…

नई दिल्ली. साइंस इतनी तरक्की कर रहा है कि अब नई तकनीकों का निजात किया जा रहा है. अमेरिका की आयोवा स्टेट विश्वविद्यालय के वनस्पति वैज्ञानिकों ने एक ऐसा  छोटे ग्रेफेन सेंसर को डेवलप किया है, जिसे पौधों में लपेटा जा सकता है. इस डिवाइस को ‘प्लांट टैटू सेंसर’ का नाम दिया गया है. एडवांस मैटेरियल्स टेक्नोलॉजी जर्नल में इस उपकरण के बारे में विस्तार से बताया गया है. यह पौधे की जड़ों से उसकी पत्तियों तक पानी पहुंचने में लगे समय की गणना कर सकता है. बाजार में उतारने के लिए प्लांट सेंसर का सफलतापूर्वक परीक्षण कर लिया गया है. नई तकनीक: ‘प्लांट टैटू सेंसर’ पौधों के पानी को करेगा ट्रैक...

वैज्ञानिक पैट्रिक स्नेबल ने बताया, “इस प्रकार के उपकरणों से हम ऐसे पौधों की नस्ल विकसित कर सकते हैं, जो पानी का उपयोग करने में अधिक कुशल हों.” स्नेबल ने कहा कि यह रोमांचक है. हमने ऐसा पहले कभी नहीं किया. लेकिन, एक बार जब हम किसी चीज की गणना करते हैं, तो हम उसे समझने लगते हैं. 

इसके आलावा एक और वैज्ञानिक डोंग ने कहा कि वे और अच्छे परिणाम देने वाले और अपेक्षाकृत सस्ते सेंसर बनाने के लिए प्रयासरत हैं. उन्होंने बताया कि यह पद्धति बहुत सरल है. इन सेंसरों को बनाने के लिए आपको मात्र टेप का उपयोग करना होगा जिसकी कीमत मात्र कुछ सेंट है. उन्होंने कहा कि पौधों के लिए इलेक्ट्रोनिक सेंसर की अवधारणा बिल्कुल नई है. और प्लांट सेंसर इतने छोटे होते हैं कि पौधों में वाष्पोत्सर्जन को जान जाते हैं और इनसे पौधे की वृद्धि और प्रजनन क्षमता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है. 

You May Also Like

English News