नए विहिप अध्यक्ष आज पहुंचेंगे राम मंदिर

 विश्व हिन्दू परिषद् के नए अध्यक्ष विष्णु हरि सदाशिव कोकजे आज अयोध्या के विवादित राम मंदिर का दौरा करेंगे, वे वहां भगवान राम के दर्शन करने जा रहे हैं, लेकिन उनकी इस यात्रा को सुप्रीम कोर्ट में चल रहे अयोध्या केस की सुनवाई से जोड़कर देखा जा रहा है, बताया जा रहा है कि विहिप अध्यक्ष के तौर पर कोकजे का यह पहला अयोध्या दौरा कई मायनों में अहम् रहने वाला है.अयोध्या: विश्व हिन्दू परिषद् के नए अध्यक्ष विष्णु हरि सदाशिव कोकजे आज अयोध्या के विवादित राम मंदिर का दौरा करेंगे, वे वहां भगवान राम के दर्शन करने जा रहे हैं, लेकिन उनकी इस यात्रा को सुप्रीम कोर्ट में चल रहे अयोध्या केस की सुनवाई से जोड़कर देखा जा रहा है, बताया जा रहा है कि विहिप अध्यक्ष के तौर पर कोकजे का यह पहला अयोध्या दौरा कई मायनों में अहम् रहने वाला है.  कोकजे राम मंदिर दर्शन के बाद अपनी 7 सदस्यीय टीम के साथ वहीं पत्रकारों से भी मुखातिब होंगे और राम मंदिर के बारे में विहिप की ओर से अपनी राय रखेंगे. वहीं रामलला के मुख्य पुजारी सतेंद्र दास ने कहा कि यह बात सुनने में  अच्छी है कि वीएचपी के जो नए अध्यक्ष बने हैं उन्होंने राम मंदिर बनाने की बात कही है, लेकिन कहते तो सभी हैं. लेकिन उनके पास राम मंदिर बनाने की कार्य योजना क्या है? इनके अलावा बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा है कि यह मामला फ़िलहाल सुप्रीम कोर्ट में है और अदालत का जो भी फैसला होगा वो हमे मान्य होगा, विहिप अध्यक्ष अभी से नहीं कह सकते कि वे राम मंदिर बनाकर ही रहेंगे, क्योंकि मामला अभी अदालत में है.   गौरतलब है कि विहिप हमेशा से ही अयोध्या मुद्दे को उठता रहा है, लेकिन विहिप के पुराने नेता जिन्होंने इसकी शुरआत की थी उनमे से अशोक सिंघल तो दुनिया में नहीं रहे और पूर्व अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया भी अपने पद से हाथ धो बैठे हैं. इसके बाद अब विहिप को अपने नए कार्यकारी अध्यक्ष कोकजे से काफी उम्मीदें हैं. वहीं कोकजे भी अध्यक्ष बनने के बाद इस बारे में ऐलान कर चुके हैं कि राम मंदिर बनने में अब देर नहीं होगी.

कोकजे राम मंदिर दर्शन के बाद अपनी 7 सदस्यीय टीम के साथ वहीं पत्रकारों से भी मुखातिब होंगे और राम मंदिर के बारे में विहिप की ओर से अपनी राय रखेंगे. वहीं रामलला के मुख्य पुजारी सतेंद्र दास ने कहा कि यह बात सुनने में  अच्छी है कि वीएचपी के जो नए अध्यक्ष बने हैं उन्होंने राम मंदिर बनाने की बात कही है, लेकिन कहते तो सभी हैं. लेकिन उनके पास राम मंदिर बनाने की कार्य योजना क्या है? इनके अलावा बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा है कि यह मामला फ़िलहाल सुप्रीम कोर्ट में है और अदालत का जो भी फैसला होगा वो हमे मान्य होगा, विहिप अध्यक्ष अभी से नहीं कह सकते कि वे राम मंदिर बनाकर ही रहेंगे, क्योंकि मामला अभी अदालत में है. 

गौरतलब है कि विहिप हमेशा से ही अयोध्या मुद्दे को उठता रहा है, लेकिन विहिप के पुराने नेता जिन्होंने इसकी शुरआत की थी उनमे से अशोक सिंघल तो दुनिया में नहीं रहे और पूर्व अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया भी अपने पद से हाथ धो बैठे हैं. इसके बाद अब विहिप को अपने नए कार्यकारी अध्यक्ष कोकजे से काफी उम्मीदें हैं. वहीं कोकजे भी अध्यक्ष बनने के बाद इस बारे में ऐलान कर चुके हैं कि राम मंदिर बनने में अब देर नहीं होगी. 

You May Also Like

English News