नवाज़ शरीफ के बयान ने पाकिस्तान में आंतरिक कलह को बढ़ाया!

पिछले शनिवार को पाकिस्तान के एक पात्र में दिए अपने एक इंटरव्यू में उन्होंने आखिरकार क़ुबूल कर ही लिया कि 26/11 के मुंबई हमले को पाकिस्तान की सरज़मीन से संचालित किया गया जिसमें 166 भारतियों के साथ कुछ विदेशी नागरिक की भी मौत हुई थी.

बता दें कि नवाज़ के इस बयान के बाद पाकिस्तान में एक हंगामा सा खड़ा हो गया है. पाकिस्तानी उर्दू अखबारों और टीवी चैनल्स पर हो रही बहसों को जिसमें महत्वपूर्ण सियासी, समाजी और फ़ौजी लोगों के बयान शामिल हैं. यहाँ के पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की लीडर और पाकिस्तान असेंबली में विपक्ष की नेता, शेरी रहमान का कहना है, मियां साहब ने मोदी के स्टैंड पर ठप्पा लगा दिया है. उनके बयान से पाकिस्तान की प्रतिष्ठा को धक्का लगा है. हम इसकी निंदा करते हैं.

रिटायर्ड मेजर जनरल  रक्षा मामलों के विशेषज्ञ एजाज़ ऐवान कहते हैं, नवाज़ शरीफ ने ‘मुंबई हमला केस’ में जांच आगे न बढ़ने का इल्ज़ाम पाकिस्तान की न्यायिक व्यवस्था पर लगाकर शर्मनाक हरकत की है. भारत में पाकिस्तान के राजदूत रह चुके अब्दुल बासित ने कहा, ‘मियां नवाज़ शरीफ के बयान से भारतीय काफी खुश होंगे’. इन सब के अलावा पाकिस्तान के पंजाब  के पूर्व मुख्मंत्री चौधरी परवेज़ इलाही का कहना है, नवाज़ शरीफ ने मुल्क के ख़िलाफ़ गद्दारी का सुबूत दिया है.

You May Also Like

English News