नायडू के समर्थन के लिए नीतीश कुमार को PM मोदी ने किया फोन, कहा…

भारतीय जनता पार्टी की ओर से उपराष्ट्रपति पद के लिए केंद्रीय मंत्री और पूर्व बीजेपी अध्यक्ष वेंकैया नायडू को अपना प्रत्याशी बनाया है. सोमवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने इसका ऐलान किया, शाह ने कहा कि नायडू इस पद के लिए हर कसौटी पर खरे उतरते हैं. वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी नायडू को बधाई दी और उनकी जमकर तारीफ की.नायडू के समर्थन के लिए नीतीश कुमार को PM मोदी ने किया फोन, कहा...

पीएम ने किया नीतीश को फोन

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो पीएम मोदी ने वेंकैया नायडू का समर्थन करने के लिए कई राजनीतिक दलों से बात की है. पीएम मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी बात की है. मोदी ने तमिलनाडु के सीएम ई. के. पलानीस्वामी, आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव, एनसीपी प्रमुख शरद पवार से भी बात की और समर्थन मांगा. तेलंगाना की टीआरएस ने तो नायडू के समर्थन का ऐलान भी कर दिया है.

राज्यसभा में मायावती ने योगी सरकार पर लगाया ये बड़ा आरोप, कहा…

आपको बता दें कि नीतीश कुमार पहले ही विपक्ष के उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार गोपालकृष्ण गांधी के समर्थन का ऐलान कर चुके हैं. हालांकि नीतीश ने राष्ट्रपति पद के लिए खुले तौर पर एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का समर्थन किया था. हालांकि पिछले कई मौकों पर नीतीश कुमार पीएम मोदी के फैसलों का समर्थन करते नजर आए हैं.

गौरतलब है कि वेंकैया नायडू मंगलवार को अपना नामांकन भरेंगे. बता दें कि उपराष्ट्रपति पद के लिए नामांकन भरने का मंगलवार को आखिरी दिन है. सोमवार शाम बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक में वेंकैया नायडू के नाम पर मुहर लगाई गई.

भंडारकर ने कांग्रेस से किया सवाल- कहा- देश की सबसे पुरानी पार्टी एक फिल्म से क्‍यों डर रही है, क्या…!

दो सेट में भरेंगे नामांकन

वेंकैया नायडू की तरफ से नामांकन के दो सेट दाखिल किए जाएंगे. पहले सेट में बतौर प्रस्तावक (Proposer) पीएम मोदी और अनुमोदक (seconder) गृहमंत्री राजनाथ सिंह के हस्ताक्षर होंगे. दूसरे सेट में प्रस्तावक (proposer) वित्त मंत्री अरुण जेटली और अनुमोदक (seconder) विदेश मंत्री सुषमा स्वराज होंगी.

मंत्री पद से दिया इस्तीफा

एम वेंकैया नायडू ने केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. नायडू के जिम्मे आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय, सूचना और प्रसारण मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय की कमान थी.

You May Also Like

English News