नारायण को लेकर नाराज हुए शिव सेना, आखिर क्यों?

महाराष्ट्र में शीतकालीन सत्र से पहले सीएम देवेंद्र फडणवीस अपने मंत्रिमंडल में फेरबदल करेंगे. इसमें शिवसेना के पूर्व नेता नारायण राणे को शामिल किये जाने की भनक लगते ही शिवसेना ने अपनी नाराज़ी ज़ाहिर करते हुए मुख्यमंत्री तक यह संदेश भिजवा दिया है कि अगर राणे को मंत्रिमंडल में लिया गया तो शिव सेना सरकार से समर्थन वापस ले लेगी.नारायण को लेकर नाराज हुए शिव सेना, आखिर क्यों?अभी-अभी: केंद्रीय मंत्री नितिन ने किया बड़ा एलान, हिमाचल में सड़कों पर खर्च होंगे इतने हजार करोड़

उल्लेखनीय है कि एक अंग्रेजी अख़बार के अनुसार शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपने निजी सचिव मिलिंद नार्वेकर  के जरिये सीएम देवेंद्र फडणवीस तक  यह संदेश पहुंचा दिया है, कि अगर आप कैबिनेट में राणे को लाएंगे, तो सरकार की स्थिरता के लिए हम पर निर्भर ना रहें. हम सरकार से बाहर निकल आएंगे.बता दें कि शिव सेना प्रमुख ने मिलिंद नार्वेकर को इस काम के लिए इसलिए चुना,क्योंकि वो विश्वसनीय सहयोगी तो हैं ही नार्वेकर की सीएम फडणवीस से भी घनिष्ठता है.

जबकि दूसरी ओर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि राणे एनडीए से जुड़े हैं. उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा. वो हमारे भाजपा कोटे से मंत्री होंगे. स्मरण रहे कि  राणे ने अपनी महाराष्ट्र स्वभिमान पक्ष नाम की पार्टी बनाई है, जो राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का हिस्सा है.राजनीतिक पर्यवेक्षकों ने शिव सेना के विरोध को व्यर्थ बताया है , क्योंकि राणे कहीं भी जाने के लिए स्वतंत्र है.

loading...

You May Also Like

English News