ना कांडोम, ना नसबंदी, सिर्फ लगाओ जेल, करो फिर ताक धिना धिन

ना कांडोम, ना नसबंदी, सिर्फ लगाओ जेल, करो फिर ताक धिना धिन , भले ही महिलाओं के पास गर्भनिरोध के तमाम आधुनिक उपाय मौजूद हों, लेकिन पुरुषों को सिर्फ कंडोम या नसबंदी जैसे कुछ पुराने फॉर्म्युलों पर ही निर्भर रहना पड़ता है।

ना कांडोम, ना नसबंदी, सिर्फ लगाओ जेल, करो फिर ताक धिना धिन

यह अपने आप में खासा कठिन भी होता है क्योंकि एक बार नसबंदी कराने के बाद पुरुष फिर पिता बनने के बारे में नहीं सोच सकते। लेकिन वैज्ञानिक अब एक ऐसा गर्भनिरोधक जेल बनाने में जुटे हैं, जिसे पुरुष भी इस्तेमाल कर सकेंगे। वासलजेल नाम का यह जेल 2018 तक बाजार में आ सकता है। इसके इस्तेमाल करने का तरीका भी बेहद आसान होगा। इस जेल को इंजेक्शन के जरिए आदमी के शरीर में प्रवेश कराया जाएगा। यह जेल संभोग के दौरान स्पर्म को बाहर आने से रोकने का काम करेगा।

इसकी जेल की खास बात यह है कि एक बार इंजेक्शन लगाए जाने के बाद 10 वर्षों तक इसका असर बना रहेगा। यही नहीं यदि व्यक्ति का इरादा बदल जाता है और वह एक बार फिर पिता बनना चाहता है तो एक इंजेक्शन और लगाए जाने के बाद इसके असर को समाप्त किया जा सकेगा।

बड़े Breast वाली महिलाओं की ओर ज्यादा आकर्षित क्यों होते हैं पुरुष..?

यह जेल उन पुरुषों के लिए खासा कारगर साबित हो सकता है, जो परिवार नियोजन के फैसले के बाद भी एक बार फिर पिता बनना चाहते हैं या फिर संतान की मौत के बाद दूसरा बच्चा चाहते हैं। इस जेल को नसबंदी का बेहतर विकल्प माना जा रहा है, जिसमें शुक्राणु की नलिका को काटा जाता था। इस जेल का पहला परीक्षण 2017 में किए जाने की संभावना है। ‘द फारसेमस फाउंडेशन’ दुनिया भर में 2018 तक इस जेल को लांच कर सकता है।

 

 

You May Also Like

English News