ना हमे आटा चाही, ना चाही टाटा, हमें पाकिस्तान में सन्नाटा चाही

लखनऊ। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि हमें आटे की जरूरत नहीं है बल्कि पाकिस्तान में सन्नाटे की जरूरत है। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भोजपुरी भाषा से जुड़े एक कार्यक्रम में उन्होंने ये बातें कहीं।

ना हमे आटा चाही, ना चाही टाटा, हमें पाकिस्तान में सन्नाटा चाही: राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह ने लखनऊ में भोजपुरी अध्ययन शोध केंद्र के कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि दुनिया में सबसे बड़ा खतरा आतंकवाद है और इसके खिलाफ दुनिया को एक होना चाहिए।

राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को आतंकवाद का गढ़ बताते हुए कहा कि लोग दाल-आटे से ज्यादा पाकिस्तान में सन्नाटा चाहते हैं। उन्होंने कहा कि भोजपुरी बोलने वालों से इस बारे में आप पूछेंगे तो वो कहेगा, ना हमरे को आटा चाही, ना हमरो को टाटा चाही, हमे पाकिस्तान में सन्नाटा चाही।

ट्विटर पर डोनाल्ड ट्रंप की हत्या करने तक की बात कर रहे लोग

राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारी सरकार भोजपुरी भाषा की बेहतरी के लिए हर संभव प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि फिल्मों ने भी भोजपुरी भाषा को आगे बढ़ाया है। राजनाथ ने कहा कि हमारी सरकार ने मालिनी अवस्थी को भोजपुरी गीतों के लिए पद्मश्री दिया। गृहमंत्री ने कहा कि शकुंतला मिश्रा यूनिवर्सिटी ने भोजपुरी रिसर्च सेंटर को मूर्त रूप देने के बारे में सोचा, जो काफी सराहनीय है। उन्होंने कहा कि भोजपुरी देवनागरी से अलग है और हम भोजपुरी का सम्मान करते हैं।

पिछले कुछ समय से राजनाथ के हर संबोधन में है पाकिस्तान

राजनाथ सिंह पिछले आतंकवाद को लेकर लगातार पाकिस्तान को घेर रहे हैं। इससे पहले छत्तीसगढ़ राज्य के स्थापना दिवस कार्यक्रम में भी उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान आतंक के सहारे हमारे देश को तोड़ने का प्रयास कर रहा है। राजनाथ सिंह ने छत्तीसगढ़ में कहा था कि पीएम मोदी के होते कोई ताकत भारत को नहीं तोड़ सकती है। उत्तर प्रदेश की चुनावी रैलियों में भी राजनाथ सिंह पाकिस्तान पर हमलावर रहे हैं।

Video: मायावती के दफ्तर में मच गया है हड़कंप, बैग भर-भर के भाग रहे हैं नेता

आपको बता दें कि पीएम मोदी के नोट बैन के फैसले को भी आतंकवाद पर प्रहार की तरह देखा जा रहा है। नोट बैन के बाद सत्ता पक्ष के लोग कह रहे हैं कि अब पाकिस्तान से आने वाली नकली करैंसी पर लगाम लगाई जा सकेगी।

You May Also Like

English News