नितीश कुमार ने मोदी के विकास पर तंज कसा

एनडीए की सबसे प्रमुख मानी जा रही जेडीयू के नितीश कुमार ने मोदी सरकार के बारे में दिया गया बयान सत्ता पक्ष के लिए गले की हड्डी बन रहा है. बातों-बातों में नितीश कुमार ने यह जाहिर कर दिया है, भाजपा गठबंधन धर्म पर खरा नहीं उतर पा रही है. साथ ही बैंकिंग व्यवस्था और विशेष राज्य का दर्जा देने वाले मुद्दों पर भी नितीश कुमार ने नरेंद्र मोदी को घेरा है. एनडीए की सबसे प्रमुख मानी जा रही जेडीयू के नितीश कुमार ने मोदी सरकार के बारे में दिया गया बयान सत्ता पक्ष के लिए गले की हड्डी बन रहा है. बातों-बातों में नितीश कुमार ने यह जाहिर कर दिया है, भाजपा गठबंधन धर्म पर खरा नहीं उतर पा रही है. साथ ही बैंकिंग व्यवस्था और विशेष राज्य का दर्जा देने वाले मुद्दों पर भी नितीश कुमार ने नरेंद्र मोदी को घेरा है.   मोदी के चार साल पुरे होने के बाद जैसे अमित शाह और नरेंद्र मोदी भाजपा सरकार की उपलब्धियां गिना रही थी वहीं नितीश कुमार ने पटना में बैंकर्स को संबोधित करते हुए चौंका दिया. उन्होंने पहली बार नोटबंदी जैसे मुद्दों पर विकास की बजाय मोदी पर हमला बोलना उचित समझा. बता दें, नितीश कुमार ने मोदी के इस फैसले पर ज्यादा तारीफ में कसीदे पढ़े थे.   नितीश यही नहीं रुके, उन्होंने नीरव मोदी और विजय माल्या जैसे भगोड़ों पर भी हमला बोलते हुए कहा है कि 'कैसे कोई इतना बड़ा घोटाला कर देश छोड़कर भाग जाता है और हाईलेवल के लोगों को पता तक नहीं चलता. नितीश के इस बयान को मोदी और भाजपा सरकार के ऊपर देखा जा रहा है. साथ ही नितीश से मीडिया ने विकास के मुद्दों पर बात करना चाही तो उन्होंने सुशील मोदी को खड़ा कर खुद को चुप रखना बेहतर समझा और निकल गए, वहीं हर बार इस तरह के मामलो में नितीश कुमार मोदी की तारीफ करते थकते नहीं थे.

मोदी के चार साल पुरे होने के बाद जैसे अमित शाह और नरेंद्र मोदी भाजपा सरकार की उपलब्धियां गिना रही थी वहीं नितीश कुमार ने पटना में बैंकर्स को संबोधित करते हुए चौंका दिया. उन्होंने पहली बार नोटबंदी जैसे मुद्दों पर विकास की बजाय मोदी पर हमला बोलना उचित समझा. बता दें, नितीश कुमार ने मोदी के इस फैसले पर ज्यादा तारीफ में कसीदे पढ़े थे. 

नितीश यही नहीं रुके, उन्होंने नीरव मोदी और विजय माल्या जैसे भगोड़ों पर भी हमला बोलते हुए कहा है कि ‘कैसे कोई इतना बड़ा घोटाला कर देश छोड़कर भाग जाता है और हाईलेवल के लोगों को पता तक नहीं चलता. नितीश के इस बयान को मोदी और भाजपा सरकार के ऊपर देखा जा रहा है. साथ ही नितीश से मीडिया ने विकास के मुद्दों पर बात करना चाही तो उन्होंने सुशील मोदी को खड़ा कर खुद को चुप रखना बेहतर समझा और निकल गए, वहीं हर बार इस तरह के मामलो में नितीश कुमार मोदी की तारीफ करते थकते नहीं थे.

 

You May Also Like

English News