नेताजी की अपील भी नहीं आयी काम: मुलायम की छोटी बहू भी हारीं

नेताजी की अपील भी नहीं आई काम, मुलायम की छोटी बहू अपर्णा भी  हारीं
लखनऊ ।
यूपी विधानसभा चुनाव में राजधानी की कैण्ट सीट सबसे अहम थी। वजह थी कि इस सीट से मुलायम सिंह की छोटी बहू अपर्णा यादव चुनाव मैदान में थी। मुलायम सिंह ने अपर्णा के समर्थन में रैली भी की थी। बावजूद इसके बाद जनता ने अपर्णा यादव को पंसद नहीं किया और यहां से भाजपा प्रत्याशी रीता बहुगुणा जोशी को जीत मिली।
चुनाव आयोग की वेबसाइट के मुताबिक रीता बहुगुणा जोशी को 95,402 वोट मिले हैं, जबकि दूसरे नंबर पर रहीं अपर्णा को 61,606 वोट मिले हैं। 26,036 वोटों के साथ बसपा के योगेश दीक्षित तीसरे नंबर पर रहे। कैण्ट ही यह सीट खासी चर्चा में रही थी। उत्तर प्रदेश विधानसभा के तीसरे चरण में कैंट सीट पर मतदान हुआ था.
भाजपा ने कांग्रेस छोड़कर आई रीता जोशी को मौका दिया था। मुलायम के साथ ही डिंपल यादव ने भी यहां रैली की और छोटी बहू के लिए वोट मांगे थे। ज्ञात हो कि अपर्णा यादव मुलायम और उनकी दूसरी पत्नी साधना गुप्ता के पुत्र प्रतीक यादव की पत्नी हैं. मुलायम ने अपील की थी कि यहां मेरा मान रख लेना लेकिन फिर भी अपर्णा हार गईं।
कैंट  सीट पर मतदान के बाद रीता बहुगुणा जोशी ने कहा था वे आसानी से चुनाव जीत रही हैं। हालांकि यही दावा 27 साल की अपर्णा भी कर रही थीं। अपर्णा का कहना था मैं अभी विधायक नहीं बनी हूँ लेकिन इलाके में लंबे समय से सक्रिय हूँ और लोग मुझे तथा मेरे काम को जानते हैं। इसलिए मुझे चुनाव जीतने में कोई परेशानी नहीं होगी।

You May Also Like

English News