नेशनल रिकॉर्ड तोड़कर जीता था गोल्ड, पर एक गलती खत्म करेगी ओलंपियन का कैरियर

18 साल पुराना नेशनल रिकॉर्ड तोड़कर गोल्ड मेडल जीता था, लेकिन एक गलती ओलंपियन प्लेयर का शानदार कैरियर बर्बाद कर देगी, जानिए क्या हुआ है? नेशनल रिकॉर्ड तोड़कर जीता था गोल्ड, पर एक गलती खत्म करेगी ओलंपियन का कैरियर

जेल में शशिकला को मिला VIP ट्रीटमेंट! खाली सेल में करती थीं लोगों से मुलाकात…

दरअसल, इंटरनेशनल शॉट पुटर मनप्रीत कौर डोप टेस्ट में फेल हो गई हैं। हाल ही में एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप ने मनप्रीत ने नेशनल रिकॉर्ड तोड़ते हुए गोल्ड जीता था, जो अब उनसे छीन जाएगा। मनप्रीत का डोप टेस्ट 1-4 जून के बीच पटियाला में फेडरेशन कप के दौरान लिया गया था, जिसमें वे शक्ति बढ़ाने वाले पदार्थ डाईमिथाइलबूटीलेमाईन का सेवन करने की दोषी पाई गई हैं। 

पंजाब के पटियाला के सहुली गांव निवासी मनप्रीत ​कौर देश की शीर्ष एथलीटों में से एक हैं। एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में मेडल जीतकर मनप्रीत ने अगले महीने लंदन में होने वाली वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप के लिए भी क्वालीफाई किया है, लेकिन डोप टेस्ट में फेल होने के बावजूद वे इस प्रतियोगिता में खेलेंगी, क्योंकि शक्ति बढ़ाने वाला पदार्थ विश्व डोपिंग विरोधी एजेंसी की अनिर्दिष्ट श्रेणी में आता है।

जानकारी के मुताबिक, मनप्रीत कौर को अब सुनवाई के लिए हाजिर होना होगा और अपनी बेगुनाही साबित करनी होगी। अगर वे ऐसा नहीं कर पाई तो उनका गोल्ड मेडल छीन जाएगा। बता दें कि चीन में अप्रैल में हुई एशियाई ग्रैंड प्रिक्स में मनप्रीत ने 18.86 मीटर दूर थ्रो फेंककर गोल्ड मेडल जीता था। मनप्रीत के शानदार प्रदर्शन ने उन्हें विश्व नंबर-1 पर पहुंचा दिया था।

भुवनेश्वर में मनप्रीत ने 18.28 मीटर की दूरी पर गोला फेंककर गोल्ड मेडल जीता। मनप्रीत ने अंतर-राज्यीय एथलेटिक्स मीट में भी हिस्सा लिया था, जो मंगलवार को आंध्रप्रदेश के गुंटूर में संपन्न हुई। यहां मनप्रीत का प्रदर्शन सबसे प्रभावी रहा, लेकिन इस बार 15.65 मीटर की दूरी पर फेंककर खिताब जीता। मनप्रीत ने 2016 रियो ओलंपिक्स के लिए भी क्वालीफाई किया था, लेकिन वो 23वें स्थान पर रही थी।

मनप्रीत कौर रेलवे की तरफ से खेलती हैं। पटियाला के सहुली गाँव की रहने वाली कौर डीजल लोकोमोटिव मॉडर्नाइजेशन में काम कर रही हैं। पटियाला में भारतीय रेल का इंजन बनने का काम होता है। मनप्रीत ने साल 2010 में दिल्ली के कामनवेल्थ खेलों में हिस्सा लिया था। जिसके बाद उन्होंने खेल से दूरी बना ली थी। इस दौरान उन्होंने 7 साल से उन्हें कोचिंग दे रहे करमजीत से शादी करके 3 साल बाद एक बच्ची को जन्म दिया।

बच्ची की चार साल की परवरिश के बाद उन्होंने दोबारा खेल के मैदान में उतर आईं। मनप्रीत कौर को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लम्बा अनुभव है। साल 2007 में केज गणराज्य के ओस्ट्रावा में हुए आईएएएफ यूथ चैंपियनशिप में कौर ने शॉट पुट में 9 वां स्थान हासिल किया था। मनप्रीत कौर ने साल 2006 में 14.49 का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन किया था, जो अभी भी राष्ट्रीय रिकॉर्ड है।

You May Also Like

English News