नैंसी हत्याकाण्ड: अब तक नहीं पकड़ा जा सका आरोपी राजकुमार

hatya
लखनऊ , 3 नवम्बर । कैसरबाग के सफदलबाग इलाके में 13 साल की नैंसी की हत्या के मामले में अब तक पुलिस उसके पिता राजकुमार को पकड़ नहीं सकी है। राजकुमार के पकड़े जाने के बाद ही इस बात का पता चल सकेगा कि राजकुमार ने अपनी मासूम बेटी की हत्या क्यों की? इंस्पेक्टर कैसरबाग अशोक पाण्डेय ने बताया कि राजकुमार की तलाश में पुलिस की टीम लगी है। पुलिस ने उसकी तलाश में कई जगहा छापेमारी भी की पर वह हाथ नहीं आया। पुलिस का मानना है कि इस घटना के बाद राजकुमार शहर छोड़कर भाग गया है। इंस्पेक्टर ने बताया कि सर्विलांस की मदद से भी राजकुमार की लोकेशन पता की जा रही है और जल्द ही उसको गिरफ्तार कर लिया जायेगा। इस सनसनीखेज हत्या के मामले में जब तक राजकुमार पकड़ा नहीं जाता है, तब तक इस बात का पता नहीं चल सकेगा कि उसने नैंस की हत्या आखिर क्यों की? अभी इस बात की आशंका जतायी जा रही है कि राजकुमार ने नैंसी की हत्या तंत्र-मंत्र के चलते की है। वहीं परिवार वालों का अलग ही तर्क है कि नैंसी काफी दिनों से बीमार थी और शायद उसकी मौत के बाद राजकुमार उसके शव को कमरे में दफना कर चला गया। परिवार वालों का यह तर्क पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद गलत साबित हुआ। पीएम रिपोर्ट ने इस बात का खुलासा किया कि नैंस की हत्या गला दबाकर की गयी थी। यह है पूरी घटना कैसरबाग के सफदलबाग इलाके में पेंटर राजकुमार अपने परिवार के साथ रहता है। उसकी पत्नी की 9 साल पहले मौत हो गयी थी। राजकुमार के एक 13 साल की बेटी नैंसी थी। राजकुमार संयुक्त परिवार में रहता था। परिवार में मां, बहन व भाई हैं। शनिवार को राजकुमार के भाई सुनील ने उसके कमरे में ताला लगा देखा। शक होने पर उसने सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने जब कमरे का दरवाजा तोड़ा और अंदर पहुंची तो मंजर देख पुलिस सन्न रह गयी। कमरे में नैंसी का शव कब्र में दफन मिला। पुलिस ने कब्र खोदकर उसके शव को बाहर निकाला। कब्र में चाउमीन व पानी का गिलास रखा था,जबकि बाहर दूध, नीबू व अन्य  सामाना पाया गया था।

 
 
 
 

You May Also Like

English News