नैंसी हत्याकाण्ड: बेटी का हत्यारा राजकुमार पुलिस के हत्थे चढ़ा

images-13-650x400लखनऊ , 15 नवम्बर । कैसरबाग के सफदलबाग इलाके में रहनी वाली नैंसी की हत्या करने वाले उसके सगे पिता को आखिरकार कैसरबाग पुलिस ने 17 दिनों के बाद गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को पुलिस ने उसके घर से पकड़ा। उसका कहना है कि बेटी की बीमारी से परेशान होकर उसने नैंसी की हत्या कर दी थी। एसपी पश्चिम जयप्रकाश यादव ने बताया कि राजकुमार की तलाश में पुलिस की टीम लगी थी। पुलिस ने उसकी तलाश में कई जगहा छापेमारी भी की पर वह हाथ लगा सका था। लगातार पुलिस की टीम सर्विलांस की मदद से राजकुमार पर निगाह रखे हुए थी। मंगलवार को लोगों ने पुलिस को सूचना दी कि राजकुमार अपने घर पर मौजूद है। लोगों की इस सूचना के बाद कैसरबाग पुलिस की टीम राजकुमार के घर पहुंच गयी और उसको घर से गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने जब राजकुमार से बेटी की हत्या करने के संबंध में पूछताछ की तो उसने बताया कि नैंसी काफी समय से बीमार चल रही थी। वह उसका इलाज व सेवा कर कर के थक चुका था और कोई फायदा भी नहीं हो रहा था। बेटी की बीमारी से तंग आकर राजकुमार ने नैंसी की हत्या की थी। यह है पूरी घटना कैसरबाग के सफदलबाग इलाके में पेंटर राजकुमार अपने परिवार के साथ रहता है। उसकी पत्नी की 9 साल पहले मौत हो गयी थी। राजकुमार के एक 13 साल की बेटी नैंसी थी। राजकुमार संयुक्त परिवार में रहता था। परिवार में मां,बहन व भाई हैं। बीते 29 अक्टूबर को  राजकुमार के भाई सुनील ने उसके कमरे में ताला लगा देखा। शक होने पर उसने सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने जब कमरे का दरवाजा तोड़ा और अंदर पहुंची तो मंजर देख पुलिस सन्न रह गयी। कमरे में नैंसी का शव कब्र में दफन मिला। पुलिस ने कब्र खोदकर उसके शव को बाहर निकाला। कब्र में चाउमीन व पानी का गिलास रखा था, जबकि बाहर दूध नीबू व अन्य  सामाना पाया गया था।

 
 
 
 

You May Also Like

English News