नॉकआउट से बाहर होकर भी जापान ने कुछ यूं जीता सबका दिल, पूरी दुनिया कर रही है तारीफ

रूस में हो रहे फीफा वर्ल्ड कप 2018 में अभी तक तकरीबन सभी बड़ी टीमें बाहर हो चुकी हैं. तो वहीं सोमवार को एशियाई फैंस का भी उस समय दिल टूट गया जब बेल्जियम ने जापान को 3-2 से हराकर वर्ल्ड कप से बाहर कर दिया. एक तरफ फुटबॉल फैंस को जहां अपनी टीम के लिए सबसे आक्रामक माना जाता है तो वहीं ये भी डर रहता है कि हार के बाद कहीं फैंस स्टेडियम में तोड़फोड़ न करें. लेकिन इस वर्ल्ड कप में ऐसा कुछ देखने को नहीं मिला. बल्कि फैंस ने तो ऐसी मिसाल पेश की पूरी दुनिया इनकी कायल हो गई. पहले सेनेगल के फैंस ने जहां स्टेडियम साफ कर ये साबित कर दिया कि खेल के साथ स्टेडिएम में फैलाए गए कचड़े को भी साफ करना उनकी जिम्मेदारी है तो वहीं अब इस लिस्ट में जापान के फैंस भी शामिल हो गए हैं.शशि थरूर ने भी फैंस की तारीफ की.

जापान ने कुछ ऐसे जीता पूरी दुनिया का दिल

फीफा वर्ल्‍ड कप 2018 के प्री-क्‍वार्टर फाइनल के दौरान जब जापान की टीम बेल्जियम के हाथों 3-2 से हार गई. उस वक्‍त जापान से मॉस्‍को पहुंचे तमाम फुटबॉल लवर्स के आंसू ही निकल आए. वो सभी काफी उदास नजर आ रहे थे, लेकिन इसके बाद स्‍टेडियम में उन्‍होंने जो कुछ किया, उससे दुनिया वाले जापान की हार भूलकर वहां के खेल प्रेमियों की तारीफ में जुट गए. अपने देश की परंपरा को निभाते हुए जापान के फुटबॉल फैंस रोस्तोव एरीना मैदान के स्टैंड्स में फैले कचरे को उठाकर साफ करते देखे गए. उल्लेखनीय है कि जापान में साफ सफाई को लेकर काफी संवेदनशीलता है और वे सफाई के काम को बिलकुल भी छोटा काम नहीं समझते.

क्रिकेटर्स ने लेकर फुटबॉल खिलाड़ियों ने की तारीफ

जापान के इन खेल प्रेमियों ने स्टेडियम में पड़े प्‍लास्टिक रैपर्स, बोतलें, बैनर्स आदि को चुन चुनकर अपने बैग्‍स में रखना शुरु कर दिया. इन लोगों ने दर्शक दीर्घा का पूरा कूड़ा साफ किया, तब ही वो स्‍टेडियम से बाहर गए. जापानी फैंस के इस काम की तस्‍वीरें तो सोशल मीडिया पर इस कदर छा गई हैं, कि भारतीय क्रिकेटर्स ने लेकर कई खिलाड़ियों ने इन फैंस की सोशल मीडिया पर तारीफ की और फैंस को सीख लेने को कहा.

भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह ने कहा कि ‘इसको कहते हैं असली खेल भावना. मेरा मानना है कि खिलाड़ियों, टीमों और पूरी दुनिया को जापान के इस सफाई वाले संदेश से सीखने की जरूरत है. इसके साथ ही स्टेडियम में जापानी फैंस के व्यवहार से भी सीखने की जरूरत है जब बेल्जियम के खिलाफ नाटकीय ढंग से हार के बाद उन्होंने पूरा स्टेडियम साफ किया.’

क्रिकेटर मो. कैफ ने अपने ट्वीट में लिखा है कि बेल्जियम से हारने के बाद भी जापानी खेल प्रेमियों ने स्‍टेडियम की सफाई करके वाकई काबिलेतारीफ काम किया है. कैफ ने जापानी कल्‍चर की भी जमकर तारीफ की है, साथ ही उन्‍होंने कहा कि मैं उम्‍मीद करता हूं कि इन जापान फैंस को देखकर हमारे यहां के फैंस भी कुछ नया सीखकर उनकी ही तरह बिहेव कर सकते हैं.

वहीं भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने कहा कि, जापान तुमने आज शानदार प्रदर्शन किया. तुमने सभी एशियन में एक उम्मीद जताई और हमें गर्व करने के लिए कुछ छोड़ दिया.

शशि थरूर ने भी फैंस की तारीफ की.

 

You May Also Like

English News