नॉन-वर्जिन लड़कियों से संबंध बनाकर पुरुषों को मिलता है अधिक संतोष

नॉन-वर्जिन लड़कियों से संबंध बनाकर पुरुषों को मिलता है अधिक संतोष, भले ही हमारे समाज में लोग सेक्स पर खुलकर बात ना करते है, लेकिन वो अपने मन में हमेशा सेक्स को लेकर कुछ न कुछ सोचते ही रहते है। मगर, कौमार्य हमेशा से एक ऐसा विषय रहा है, जो वर्जित विषय होने के बावजूद भी बहस का केंद्र रहता है। विशेष रूप से जब यह जीवन साथी को तलाश करने की बात रही हो।

नॉन-वर्जिन लड़कियों से संबंध बनाकर पुरुषों को मिलता है अधिक संतोष
 
भारतीय समाज में कौमार्य को गंभीरता से लिया जाता है, लेकिन इसमें पुरुषों को सामाजिक जांच से छूट मिली है। हालांकि, महिलाओं के बारे में फैसला इसी आधार पर लिया जाता है कि वे कुंवारी हैं या नहीं। मगर, अब समय बदल रहा है। कुछ लोग खुलकर कहने लगे हैं कि वे अपने सेक्स पार्टनर के रूप में नॉन-वर्जिन लड़की को अहमियत देंगे।

जितने भी पुरुषों का साक्षात्कार किया गया सभी ने बताया की, लोगों को अपने कौमार्य को खोने की बात पर शर्म महसूस नहीं करनी चाहिए फिर चाहें वे लड़के हों या लड़की। किसी लड़की के कुंवारी होने या उसके कौमार्य भंग होने से उसके समर्पण और रिश्ते में प्रतिबद्धता के स्तर पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता।

अधिकांश लड़के अब वास्तव में नॉन-वर्जिन लड़कियों को पसंद कर रहे हैं। दरअसल, इससे उनके संबंध बनाने में सहजता होती है और अधिक संतोष मिलता है।
 
 

You May Also Like

English News