नोटबंदी से शहरों में स्मार्टफोन की बिक्री को लगा बट्टा, जानें कितनी आई गिरावट

नोटबंदी और मौसमी प्रभाव से नवंबर 2016 में देश के प्रमुख 50 शहरों में स्मार्टफोन की बिक्री अक्तूबर के मुकाबले 30.5 फीसदी घट गई। यह बात सर्वेक्षण कंपनी आईडीसी ने मंगलवार को एक रिपोर्ट में कही। रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरान टियर-1 शहरों में 31.7 फीसदी और टियर-2, 3, 4 व 5 शहरों में 29.5 फीसदी घटी।
नोटबंदी से शहरों में स्मार्टफोन की बिक्री को लगा बट्टा, जानें कितनी आई गिरावट
आईडीसी ने कहा कि गिरावट का कारण नोटबंदी और उसके कारण पैदा हुई नकदी किल्लत को तथा हर साल अक्तूबर के त्यौहारी सत्र के बाद बाजार में आने वाली सुस्ती को माना जा सकता है। माना जा रहा है कि स्मार्टफोन उद्योग की सालभर की कुल बिक्री में अक्तूबर के त्यौहारी मौसम का करीब एक तिहाई योगदान रहा है।

68 प्रतिशत जवान भोजन से असंतुष्‍ट, सरहदों पे भूखे सोते हैं 30% सैनिक

आईडीसी ने कहा कि ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों ही माध्यमों से होने वाली खरीदारी में एक बड़ा हिस्सा नकदी से होने वाली खरीद का होता है, इसलिए नकदी किल्लत का तुरंत असर हुआ। यह असर करीब 13,000 रुपये से कम मूल्य वाले फोनों पर सर्वाधिक हुआ, जिसका स्मार्टफोन बाजार में बड़ा योगदान है।

रिटेल स्टोर में आने वाले स्मॉर्टफोन्स की संख्या भी काफी घटी

आईडीसी इंडिया की सीनियर मार्केट एनालिस्ट उपासना जोशी ने कहा कि नोटबंदी ने स्मार्टफोन बाजार को लगभग हर स्तर पर प्रभावित किया। इन्क्वायरी में काफी कमी आई। रिटेल स्टोर में आने वालों की संख्या भी काफी घट गई।

अगले 25 सालों में दुनिया को मिल सकता है पहला खरबपति!

रोचक यह है कि इस दौरान लोगों ने बढ़-चढ़ कर बंद हुए नोटों का उपयोग महंगे स्मार्टफोन खरीदने में किया, जिससे नोटबंदी के बाद के सप्ताहों में महंगे स्मार्टफोन की बिक्री में वृद्घि दर्ज की गई। अक्तूबर से नवंबर के बीच भारतीय कंपनियों की बिक्री में सर्वाधिक 37.2 फीसदी, तो चीन की कंपनियों की बिक्री में 26.5 फीसदी और वैश्विक कंपनियों की बिक्री में 30.5 फीसदी गिरावट आई।

आईडीसी ने नोटबंदी के प्रभाव को क्षणिक बताते हुए अनुमान जताया कि बाजार फरवरी 2017 तक सामान्य हालत में पहुंच जाएगा।

 
 

You May Also Like

English News