न्यू ईयर पर चीन ने लिया बड़ा ‘संकल्प’, अंतरराष्ट्रीय मामलों में बढ़ाएगा दखल…

एक तरफ जहां पूरी दुनिया नए साल 2018 का जश्न मना रहा है और पूरा साल खुशियां लेकर आए हर तरफ इसकी दुआएं की जा रही हैं. वहीं, विस्तारवादी चीन ने न्यू ईयर के मौके पर दुनिया में अपना दायरा बढ़ाने का संकल्प लिया है.न्यू ईयर पर चीन ने लिया बड़ा 'संकल्प', अंतरराष्ट्रीय मामलों में बढ़ाएगा दखल...साल के पहले दिन ही हुआ विमान हादसा, यात्रियों में मचा हडकंप…

चीन के राष्ट्रपति शी चिनपिंग ने नए साल के मौके पर दिए अपने संदेश में कहा है कि अब वह सभी बड़े अंतरराष्ट्रीय मुद्दों में अपनी बात प्रमुखता से रखेगा. इसके साथ ही शी ने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट ‘वन बेल्ट वन रोड’ को और सक्रियता से आगे बढ़ाने का आह्वान किया.

शी ने कहा कि चीन संयुक्त राष्ट्र की प्रभुता और कद को दृढ़तापूर्वक बनाए रखेगा और अपने अंतरराष्ट्रीय दायित्वों को बढ़-चढ़कर पूरा करेगा.

उन्होंने यह भी कहा कि चीन जलवायु परिवर्तन के मुद्दों का हल करने के संकल्पों के प्रति कटिबद्ध है, वह बीआरआई को पूरी सक्रियता से आगे बढ़ाएगा और हमेशा विश्वशांति, वैश्विक विकास और अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था में अहम भूमिका निभाएगा. 

पाचं साल के अपने दूसरे कार्यकाल के पहले नए साल के संबोधन में शी ने कहा, ‘बतौर एक जिम्मेदार बड़े राष्ट्र के तौर पर चीन के पास कहने के लिए कुछ है.’ बीआरआई से चीन सड़क, रेल और बंदरगाह कनेक्टिविटी परियोजना के मार्फत दुनिया पर अपना दबदबा बनाना चाहता है. इसमें चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) भी शामिल है. सीपीईसी पर भारत को एतराज है क्योंकि वह पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से गुजरता है.

शी ने कहा कि चीन के लोग अन्य देशों के लोगों के साथ मिलकर मानवता के लिए अधिक समृद्ध, शांतिपूर्ण भविष्य बनाने के लिए तैयार हैं. वैसे उन्होंने घरेलू मोर्चे पर माना कि उनकी सरकार लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने में पिछड़ गई है. सरकारी संवाद समिति शिन्हुआ के अनुसार शी ने कहा कि तरक्की तो हुई लेकिन जनचिंता के मुद्दे बने हुए हैं.

You May Also Like

English News