मोदी ने दस महीने में पूंजीपति दोस्तों का कालाधन सफेद करवा दियाः मायावती

संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी संसद भवन पहुंच चुके हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि वह उम्‍मीद करते हैं कि इस सत्र में अच्छी बहस होगी, उम्‍मीद है कि सभी दल सरकार का सहयोग करेंगे।
 
 
पढ़िए संसद की कार्यवाही का पल पल का अपडेट-
– मायावती ने की सरकार के फैसले की आलोचना, कहा प्रधानमंत्री को लगता है उन्होंने कोई तीर मार दिया

-लोगों को भावनात्मक रूप से ब्लैकमेल करते हैं प्रधानमंत्री, लोगों की सहानभूति लेने के‌ लिए अपनी मां तक को लगा दिया लाइन मेंः मायावती

-गाजीपुर में पीएम की रैली पर साधा निशाना, कहा- रैली का पूरा माहौल भ्रष्टाचार से भरा हुआ था

-मोदी कह रहे हैं कि मैने एकाएक फैसला नहीं लिया, मैंने दस महीने गुप्त तैयारी की, कहां गई आपकी तैयारीः मायावती

-अगर ये गंभीर होते तो दस महीने में काफी तैयारी हो सकती थी‌ जिससे लोगों को दिक्‍कत न होती

-मायावती का बड़ा आरोप- सरकार ने दस महीने में अपने पूंजीपति दोस्तों और बड़े बड़े धन्ना सेठों के पैसे ठिकाने लगवा दिए

-सरकार ने अपने कालेधन को भी इन दस महीनों में सफेद कर लिया

-कर्नाटक के पूर्व मंत्री और भाजपा नेता जर्नादन रेड्डी की बेटी की शाही शादी पर माया ने साधा निशाना

-कहा, अगर वो देश के नंबर वन खनन माफिया पर ही लगाम कस दे तो देश के बहुत गरीबों का भला हो जाएगा

-सीताराम येचुरी ने तुगलक से की मोदी की तुलना, कहा- फैसला बिल्कुल तुगलकशाही जैसा

-माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा सरकार ने बिना तैयारियों के इतने बड़े निर्णय को अमल में ला दिया

-इसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है जो नकदी की मार से जूझ रही है

-बोले येचुरी, सरकार के नोट बैन के फैसले से मगरमच्छ तो ‌जिंदा है लेकिन छोटी मछलियां मर रही हैं

-येचुरी ने प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर पेटीएम और जियो के विज्ञापन में छपने पर भी सवाल उठाया

-सारे हिंदुस्तान में जेबकतरे फैल गए हैं। देशभर में हाहाकार मचा है: शरद यादव

-शरद यादव बोले, इन दिनों देश में डेढ़ करोड़ शादियां है, मोदी जी ने मां-बहनों की मदद का वादा किया था, अब मदद करें।

-जेडीयू सांसद बोले- हम खेत बेचकर चुनाव लड़ते हैं, ईमान की राजनीति करते हैं। 

– जेडीयू सांसद शरद यादव बोले, सरकार ने भारत बंद करा दिया और लाइन में लगा दिया।

-राज्यसभा की कार्यवाही दोबारा शुरू, शरद यादव कर रहे हैं चर्चा
 
-देश में 25 लाख ट्रक सड़कों पर खड़े हैं, सब्जी मंडी बंद पड़ी हैं। सब खेतों में सड़ रही हैं।

-गलियां सूनी हैं रास्ते बंद हैं, सर्राफे में सोना बिक चुका है लोग खाली हा‌थ घरों में बैठे हैं

-आपने ऐसा काम किया है जैसे कोई चलती राजधानी ट्रेन से कूद पड़े, आपने सारे देश को लाइन में लगा दिया

-उप सभापति ने राज्यसभा की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्‍थगित कर दी है

-रामगोपाल का तंज- सरकार कह रही है कि लोग खुश हैं, आप जान लीजिए अगर वोट मांगने गांवों में चले गए तो महिलाएं रोटी बेलने वाले बेलन से कमर पर निशान कर देंगी आपके

-जल्दी से चुनाव मत करवा दीजिएगा वर्ना मुश्किल हो जाएगा आपके लिएः रामगोपाल

-बोले रामगोपाल यादव- नोटबंदी के चलते मेरे खेतों के आलू भी नहीं बिक पा रहे हैं जिससे मेरा 20-25 लाख का नुकसान हुआ है अब बताइए मैं क्या करूं

-इस निर्णय का खामियाजा गरीब आदमी को भुगतना पड़ रहा है। ईंट भट्टे पर काम करने वाले मजदूर रोजाना खाने पीने का सामान खरीदते हैं उनके पास पैसे ही नहीं हैं

-प्रधानमंत्री मोदी की आवाज तो हम टेलीविजन पर सुनते हैं लेकिन प्रधानमंत्री हमारी आवाज नहीं सुनतेः गुलाम नबी आजाद

-अखबार वाले भी हमारी आवाज नहीं उठाते टीवी वाले भी नहीं सुनतेः गुलाम नबी आजाद

-यहां इतने बड़े और जिम्मेदार नेता बैठे हैं अच्छा होता हम सब उनकी बात सुनते और वो हमारी भावनाओं से अवगत होतेः गुलाम नबी आजाद

-राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने राज्यसभा में प्रधानमंत्री मोदी की अनुपस्थिति पर उठाया सवाल

कांग्रेस ने सरकार पर बोला कड़ा हमला

-सरकार कालाधन और भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए जो कड़ा फैसला लेकर आई है उस पर विपक्ष को सरकार का सहयोग करना चाहिएः पीयूष गोयल

-सरकार ने इस निर्णय से पहले कालाधन जमा करने वालों को पूरा मौका दिया कि वो सरकार को सहयोग करेंः पीयूष गोयल

-जब लोगों ने सहयोग नहीं किया तो सरकार को ऐसा कड़ा निर्णय लेना पड़ाः पीयूष गोयल

-सरकार ने जो निर्णय लिया वो पूरे कानूनी प्रावधानों के तहत लिया। रिजर्व बैंक के बोर्ड ने यह निर्णय लिया जिस पर कैबिनेट ने अपनी सहमति दीः पीयूष गोयल

-कांग्रेस नेता आनंद शर्मा के सवालों के बाद केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने दिया जवाब

– मायावती ने वित्त मंत्री पर कसा तंज काफी परेशान लगते हैं जेटली जी। मेरा निवेदन है इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री को भी बुलाया लाए जो इनका सहयोग कर सकें।

– आनंद शर्मा ने गुजरात और यूपी के अखबारों की खबर का हवाला दिया जिसमें पहले ही नए नोट जारी होने की खबर छप चुकी थी। 

-कांग्रेस ने इसे गोपनीयता भंग होने का मामला बताया

-प्रधानमंत्री मोदी की गाजीपुर रैली का आयोजन किस पैसे से किया गया, उसका पैसा कहां से आयाः कांग्रेस

-कर्नाटक में इनके विधायक की बेटी की 500 करोड़ की शादी हो रही है कहां से आया इतना पैसाः कांग्रेस

-प्रधानमंत्री ने कहा मेरी जान को खतरा है मुझे मार देंगे, मैंने सबकुछ त्याग दिया, सब झूठ बोलाः आनंद शर्मा
 
-क्या आपके पास कोई सूचना है, ये कौन सी साजिश है वो कौन लोग हैं जो प्रधानमंत्री की हत्या करना चाहते हैंः आनंद शर्मा

-देश के लोगों को नोटबंदी से आपने अपराधी बना दिया हैः कांग्रेस

-गांव का किसान क्रेडिट कार्ड नहीं रखता है वो कैसे अपना घर चलाएः कांग्रेस

-किस कानून ने आपको यह अधिकार दिया कि सरकार जनता के बैंक से पैसा निकालने पर रोक लगाएः कांग्रेस

-आपने आर्थिक अराजकता देश में लाकर खड़ी कर दी है, कालेधन से लड़ाई का यह तरीका सही नहीं हैः कांग्रेस
-सरकार बिना किसी अध्यादेश के इतना बड़ा फैसला लेकर आ गई, यह तानाशाही हैः कांग्रेस

-गरीब आदमी के दो दिन लाइन लगाने में निकल गए और दो दिन नोट बदलने में निकल गएः आनंद शर्मा

-फैसले से विदेशी पर्यटक भी परेशान हो रहे हैं जिससे देश की बदनामी हो रही हैः कांग्रेस

-बिना किसी तैयारी के हुआ यह फैसला, नोटबंदी से आम आदमी ही परेशान हुआ हैः आनंद शर्मा

-कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ने राज्यसभा में कहा देशभर में 500 और 1000 के नोट कुल नकदी का 86 फीसदी हैं, सरकार ने एक फैसले से इसे कूड़े में तब्दील कर दिया। क्या यह सारा काला धन था।

-राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही नोटबंदी पर हंगामा, विपक्षी सांसदों ने सरकार को घेरा

-दिवंगत सांसदों को श्रद्धांजलि के बाद लोकसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्‍थगित कर दी गई है

-लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही शुरू, शुरूआत में दिवंगत सांसदों को श्रद्धांजलि दी गई।

-कार्यवाही शुरू होने से पूर्व टीएमसी सांसदों ने काली चादर ओढ़कर संसद परिसर में विरोध प्रदर्शन किया। 

-प्रधानमंत्री मोदी ने लोकसभा में कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना। मोदी विपक्ष के अन्य सांसदों से भी मिले।

 
इससे पूर्व विपक्ष भी एकजुट होकर नोटबंदी के मुद्दे पर सरकार की घेराबंदी की तैयारी में जुट गया है। कांग्रेस, राजद, झामुमो, वाम दल, बसपा, टीएमसी, जदयू, एनसीपी समेत 13 दलों ने बैठक कर इस मुद्दे पर एक साथ सरकार पर धावा बोलने का मन बनाया है।

तृणमूल सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मुद्दे पर सबसे मुखर रूख अख्तियार कर लिया है। वह इस मुद्दे पर सरकार को अंदर से भी घेरने की तैयारी में हैं इसके लिए उन्होंने भाजपा की सहयोगी और एनडीए की सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना को भी अपने साथ कर लिया है। जो पहले से ही इस मुद्दे पर सरकार के ‌खिलाफ खुलकर मोर्चा खोले हुए है।

नोटबंदी के मुद्दे पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने जेपीसी बनाए जाने की मांग कर दी है। मायावती ने कहा कि सरकार ने यह फैसला बिना तैयारी के लिए है। ये अपरिपक्व फैसला है जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। इस समस्या को लेकर हमारी पार्टी पूरी तरह चिंतित है। वहीं संसदीय कार्य मंत्री वैंकेया नायडू ने भी साफ कर दिया है कि सरकार इस मुद्दे पर हर तरह की चर्चा को तैयार है।

You May Also Like

English News