पंजाब के सरकारी विभागों में विकलांगों के पद भरने के निर्देश…

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आगामी 3 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय विकलांग दिवस के संदर्भ में सूबे के सार्वजनिक क्षेत्र में विकलांग व्यक्तियों के रिक्त पदों के बैकलाग को भरने के उद्देश्य से राज्य भर में विशेष भर्ती मुहिम शुरू करने के आदेश  दिए हैं। सरकारी प्रवक्ता ने शुक्रवार को बताया कि अंतरराष्ट्रीय दिवस मनाने के लिए सरकार के कार्यक्रमों की शृंखला में 3 दिसंबर को विशेष समारोह करवाया जाएगा, जिसमें नए भर्ती हुए विकलांग व्यक्तियों को नियुक्ति पत्र सौंपने के अलावा व्हीलचेयर व अन्य सहायता दी जाएगी।पंजाब के सरकारी विभागों में विकलांगों के पद भरने के निर्देश...Breaking: बेटियों के पैदा होने पर मिली ऐसी प्रताडऩा की कर ली आत्महत्या!

प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने विकलांगों के खाली पदों के बैकलाग को तय समय में प्राथमिकता के आधार पर भरने के लिए मुख्य सचिव और सामाजिक सुरक्षा व महिला एवं बाल विकास विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव को विस्तृत हिदायतें जारी की हैं। सूबे में नई सरकार के गठन के बाद सामाजिक सुरक्षा विभाग द्वारा विकलांग व्यक्तियों के लिए ग्रुप ए, बी, सी और डी की खाली 899 पदों की पहचान की थी।

इनमें से सरकार ने 272 पदों पर विकलांग व्यक्तियों को नियुक्ति दे दी है, जबकि बाकी पदों को अब मुख्यमंत्री के आदेश पर शुरू की जा रही विशेष भर्ती मुहिम के तहत भरा जाएगा। इसके साथ ही, मुख्यमंत्री ने विकलांग सर्टिफिकेट भी जल्द जारी करने के आदेश दिए हैं। सामाजिक सुरक्षा विभाग द्वारा विकलांग व्यक्तियों को व्हीलचेयर और अन्य सहायता मुहैया करवाई गई है।

पंजाब में करीब 6.54 लाख विकलांगों की संख्या
पंजाब में लगभग 6 लाख 54 हज़ार विकलांग व्यक्ति हैं, जो वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार राज्य की 2.77 करोड़ के कुल आबादी का 2.35 प्रतिशत है। राज्य सरकार ने अब तक 3.82 लाख विकलांग सर्टिफिकेट जारी किए हैं, जिनमें वर्ष 2016-17 के दौरान जारी किए 23,875 सर्टिफिकेट भी शामिल हैं।

विकलांगों के लिए मासिक पेंशन, वजीफा और बेरोजगारी भत्ता
पंजाब में लगभग 1.60 लाख अपंग व्यक्तियों को 750 रुपए प्रति माह पेंशन दी जा रही है। इसके अलावा सरकारी बसों में सफर के लिए किराये में 50 प्रतिशत छूट और दृष्टिहीनों को मुफ्त सफर की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जा रही है। राज्य सरकार द्वारा विकलांग व्यक्तियों के लिए विशेष स्कूल चलाए जा रहे हैं, जहां पहली से आठवीं कक्षा तक 3428 विकलांग बच्चे और 9वीं से 12वीं तक 233 बच्चे शिक्षा हासिल कर रहे हैं।

इन बच्चों को शिक्षा विभाग द्वारा 600 रुपये प्रति माह छात्रवृत्ति दी जा रही है। इसी तरह 12वीं कक्षा तक मुफ्त किताबें भी दीं जा रही हैं। पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड के मुताबिक 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए ब्रेल लिपि में किताबें मुफ्त छापी जा रही हैं। इसके अलावा 12वीं पास विकलांग व्यक्तियों को 450 रुपए प्रति माह और 12वीं कक्षा से ऊपर विकलांगों को 600 रुपये प्रति माह बेरोजगारी भत्ता दिया जा रहा है।

loading...

You May Also Like

English News