पंजाब चुनाव के दौरान दिलीप पांडे ने विश्वास से पूछा- BJP के खिलाफ क्यों नहीं बोलते?

पंजाब चुनाव के दौरान जिन नीतियों पर चलकर आम आदमी पार्टी को हार का मुंह देखना पड़ा था उन्हें राजस्थान में लागू ना करने को लेकर अब कुमार विश्वास एक बार फिर पार्टी में अलग-थलग पड़ गए हैं। इस मामले में दीलिप पांडे का ताजा ट्वीट आप के नए कलह की ओर संकेत कर रहा है।पंजाब चुनाव के दौरान दिलीप पांडे ने विश्वास से पूछा- BJP के खिलाफ क्यों नहीं बोलते?

अभी: अभी: योगी सरकार का बड़ा फैसला, वॉक इन इंटरव्यू से होगी 1000 डॉक्टरों की भर्ती

दरअसल कुमार विश्वास आम आदमी पार्टी के राजस्थान प्रभारी हैं और उन्होंने प्रदेश के आगामी चुनाव को लेकर अपना एजेंडा पेश किया है। ‌इसमें एक बिंदु है कि पार्टी सत्ता पक्ष पर प्रहार किए बिना अपना चुनावी अभियान चलाएगी।

इसी के साथ कुमार विश्वास ने अपने हाल के एक इंटरव्यू में साफ किया कि वो पार्टी के लिए काम करते हैं और किसी से रिश्तेदारी निभाने नहीं आए हैं। न्यूज चैनल एनडीटीवी से बात करते हुए विश्वास ने कहा कि जो भी व्यक्ति आम आदमी पार्टी से जुड़ा हुआ है वो पार्टी के कॉमन कॉज के लिए काम कर रहा है। विश्वास ने कहा कि वो केजरीवाल के छोटे भाई नहीं है।

इसी के बाद आप नेता दिलीप पांडे ने उन पर ट्विटर पर हमला बोलते हुए पूछा है, ‘भैया, आप कांग्रेसियों को ख़ूब गाली देते हो, पर कहते हो कि राजस्थान में वसुंधरा के ख़िलाफ़ नहीं बोलेंगे? ऐसा क्यों?’

कुमार व‌िश्वास
केजरीवाल ने अप्रैल के अंत में कुमार विश्वास के पार्टी छोड़ने की अटकलों को विराम देने के लिए उनको छोटे भाई कहकर ट्वीट भी किया था। इसको बाद में विश्वास ने भी अपने अकाउंट से रि-ट्वीट किया है। 

विश्वास ने चैनल से कहा कि वो फिलहाल वो राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में व्यस्त हैं, जिसकी जिम्मेदारी पार्टी ने उनको सौंपी है। गौरतलब है कि राजस्थान में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। 

कपिल मिश्रा से किया किनारा
विश्वास ने आप से निकाले गए दिल्ली के पूर्व जल मंत्री कपिल मिश्रा का साथ देने पर सफाई देते हुए कहा कि मेरा उनसे किसी प्रकार का कोई नाता नहीं है, जो भी उन्होंने कहा कि वो काफी शर्मनाक है। हालांकि दिल्ली में आप नेताओं के बीच चर्चा है कि विश्वास पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। दिल्ली में आप नेताओं का कहना है कि विश्वास कई बार इस तरह की बातें पार्टी और केजरीवाल के खिलाफ में कह चुकें हैं, जिनसे कई बार पार्टी नेताओं को शर्मिंदा होना पड़ा है।

You May Also Like

English News