पंजाब में विस चुनाव 4 फरवरी को, एक नजर तारीखों और समीकरण पर

पंजाब में 11 जनवरी को अधिसूचना जारी होगी। नामांकन भरने की अंतिम तिथि 18 जनवरी होगी। नामांकन पत्रों की जांच 19 जनवरी को होगा तथा नामांकन पत्रों की वापसी 21 जनवरी को होगी और मतदान की तारीख 4 फरवरी है। पंजाब में चुनाव आचार संहिता लागू कर दी गई है। इस बार अकाली-भाजपा गठबंधन, कांग्रेस और आप में त्रिकोणीय मुकाबला है।पंजाब में विस चुनाव 4 फरवरी को, एक नजर तारीखों और समीकरण पर
 
2012 में ऐसे रहे नतीजे
साल 2012 विधानसभा चुनावों की बात करें तो अकाली दल ने 56 सीटों पर जीत दर्ज की थी वहीं भाजपा को 12, कांग्रेस को 46 और अन्य के खाते में 3 सीटें गई थी। वोट प्रतिशत की के हिसाब से अकाली दल को 34.7%, बीजेपी- 7.2%, कांग्रेस- 40.1%, अन्य- 18% रहा था।यहाँ के गन्ना किसानों को मिलेगी देश में सबसे ज्यादा कीमत

त्रिकोणीय होगा मुकाबला
पंजाब में कैप्टन अमरिंदर के नेतृत्व में कांग्रेस सत्ता में वापसी की फिराक में है। अकाली-बीजेपी गठबंधन की हरसंभव कोशिश सरकार बचा ले जाने की है। हालांकि यहां आम आदमी पार्टी का भी अच्छा खासा असर माना जा रहा है। राजनीतिक पंडित पंजाब के विधानसभा चुनाव को AAP की वजह से त्रिकोणीय मान रहे हैं।
नामांकन का दिन – 11 जनवरी, बुधवार
नामांकन की आखिरी तिथी- 18 जनवरी, बुधवार
स्क्रूटनी- 19 जनवरी, वीरवार
नामांकन वापस लेने का दिन- 21 जनवरी, शनिवार
चुनाव का दिन – 4 फरवरी, शनिवार

सर्वे में केजरीवाल को फायदा
चुनावों से पहले हुए सर्वे की माने तो पंजाब के विधानसभा चुनावों में पहली बार उतरने वाली आम आदमी पार्टी को काफी फायदा मिलने वाला है। इसके साथ ही पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री पद के लिए सबसे पसंदीदा चेहरा उभरकर आ रहे हैं। कांग्रेस के अमरिंदर सिंह इस रेस में दूसरे नंबर पर हैं। पंजाब के लोग चाहते हैं की केजरीवाल को पंजाब के मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया जाएगा। हालांकि केजरीवाल ने साफ कर दिया है कि आप का सीएम कैंडिडेट चुनावों के बाद ही तय किया जाएगा।
32 फीसद दलित आबादी पर नजर
पंजाब विधानसभा की कुल 117 में से 34 सीटें दलितों के लिए आरक्षित हैं। पंजाब की 32 फीसद दलित आबादी सभी राजनीतिक दलों के आंखों का तारा बनी हुई है। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने दलितों को लुभाने के लिए दलित उप मुख्यमंत्री बनाने का वादा किया है। कांग्रेस के प्रदेश प्रधान कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने नौ सूत्रीय एजेंडे में कहा है कि सरकार बनने पर बेघर दलितों को देंगे मुफ्त मकान दिए जाएंगे। भाजपा ने कमल शर्मा की जगह विजय सांपला को अध्यक्ष बनाकर दलितों को लुभाने की कोशिश की है।
 

You May Also Like

English News