पगड़ी पहनने पर सिख छात्र को नाइटक्लब से घसीटकर निकाला बाहर

यूनाइटेड किंगडम के नॉटिंघम के मैन्सफील्ड के नाइटक्लब रश लेट बार से 22 साल के सिख छात्र अमरिक सिंह को घसीटकर बाहर निकाल दिया गया क्योंकि उन्होंने पगड़ी उतारने से मना कर दिया। सिंह को बताया गया कि वह बार के अंदर पगड़ी बांधकर नहीं जा सकते हैं। उन्होंने बाउंसर को समझाने की कोशिश की कि पगड़ी उनके बालों को सुरक्षित रखती है और यह उनके धर्म का हिस्सा है। मगर उनकी बात को नजरअंदाज कर दिया गया और उन्हें दोस्तों के सामने उन्हें घसीटकर बार से बाहर कर दिया गया।

 

सिंह को कथित तौर पर बाउंसर ने यह भी कहा कि मुझे नहीं लगता कि तुम्हें पब में आने और ड्रिंक करने की इजाजत दी जाएगी। उन्होंने अपने फेसबुक पर लिखा है- मेरा दिल टूट गया है। मुझे सिर्फ इस वजह से अंदर नहीं जाने दिया गया क्योंकि मैंने अपनी पगड़ी उतारने से मना कर दिया था। सिंह ने बताया कि बाउसंर ने उनसे कहा कि तुम्हें अपनी पगड़ी उतारनी पड़ेगी। मैंने उसे समझाया कि यह पगड़ी है टोपी नहीं। बल्कि यह मेरे धर्म का हिस्सा है और यह मेरे बालों को सुरक्षित रखता है और मुझे पब्लिक में पगड़ी पहनने की इजाजत है।

अमरिक ने बताया- बाउंसर ने मेरी बात नहीं सुनी और कहा कि मुझे इसे हटाना होगा। जब मैंने मना कर दिया तो मुझे दोस्तों के सामने घसीटा गया। मेरे धर्म की वजह से मुझ बाहर करने की वजह से मैं काफी दुखी हूं। मेरे पूर्वजों ने ब्रिटिश सेना के लिए लड़ाई की है। इसके अलावा मेरा और मेरे पैरेंट्स का जन्म ब्रिटेन में हुआ है और हम सभी ब्रिटिश नियमों का पालन करते हैं। सबसे बुरी बात यह है कि उन्होंने मेरी पगड़ी की तुलना ट्रेनर की टोपी से की। मैनेजमेंट इस मामले की जांच कर रही है।  

You May Also Like

English News