OMG!! पति की लाश के ऊपर प्रेमी से बनाए संबंध

RAIPUR: एक पत्नी ने पहले अपने पति को मारा फिर उसकी लाश पर ही प्रेमी के साथ संबंध बनाए। अवैध संबंधों के इस खौफनाक खेल ने तीन बच्चों को बेसहारा कर दिया।

OMG!! पति की लाश के ऊपर प्रेमी से बनाए संबंध
जिसे लोग डेढ़ साल से लापता मान रहे थे, उसे घर में ही दफन कर दिया गया था। मृतक के भाई की आशंका पर गुरुवार दोपहर को पुलिस ने खम्हारडीह में घर के अंदर खुदाई की तो तो लापता का कंकाल मिला। पुलिस ने हड्डियों को जांच के लिए भेज दिया है। पुलिस ने आशंका जताई है कि हत्या कर लाश दफन की गई। मृतक की पत्नी और उसके प्रेमी को साक्ष्य छिपाने के मामले में हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।
सीएसपी संजय ध्रुव ने बताया कि खम्हारडीह सतनाम चौक पर राजविंदर सिंह उर्फ राजेंद्र (45) पत्नी मनप्रीत कौर (40) व तीन बच्चों के साथ रह रहा था। पेशे से ट्रक चालक राजविंदर डेढ़ साल पहले रहस्मय ढंग से लापता हो गया था।
तीन दिन पहले तेलीबांधा में रहने वाले उसके छोटे भाई आजादविंदर सिंह ने पंडरी थाने में उसके लापता होने की शिकायत की। साथ ही यह आशंका जताई कि हो न हो उसकी हत्या कर लाश घर में ही गाड़ दी गई है।
गुरुवार दोपहर को जब पुलिस टीम जांच करने खम्हारडीह पहुंची तो आजादविंदर की आशंका सही निकली। राजविंदर के बारे में पूछने पर मनप्रीत पहले टालमटोल करने लगी, लेकिन कड़ाई बरतने पर पति की मौत के बाद  प्रेमी रामाधार यादव (35) की मदद से उसकी लाश घर में दफन करने की बात उगल दी। पुलिस के मुताबिक लाश को जल्दी गलाने के लिए नमक भी डाला गया था।
20 साल पहले राजविंदर सिंह ने मनप्रीत देवांगन से प्रेम विवाह किया था। पड़ोसियों ने बताया कि मूलत: पंजाब निवासी राजविंदर सिंह फग्गड़ अपने परिवार के साथ पांच साल से खम्हारडीह सतनाम चौक के पास खपरैल के मकान में रह रहा था। यह मकान किसका है फिलहाल पता नहीं चल पाया है, लेकिन जिस जमीन पर बना है वह एक मठ की बताई जा रही है।
जिस फर्श पर सोते थे बच्चे, वहीं दफन थी पिता की लाश
राजविंदर के तीन बच्चे हैं। बड़ा बेटा हरदीप सिंह (19) ट्रक ड्राइवर है, जबकि बलदीप (14) नवमी का छात्र है और वह मंदबुद्धि भी है। सबसे छोटी बेटी सिमरन (2) है। बलदीप और सिमरन उसी फर्श पर सोते थे, जिसके नीचे पिता की लाश दफन थी। हरदीप ने बताया कि जब भी वह मां से पिता के बारे में पूछता था तो कहती थी पंजाब में बीमार है, जल्द वापस आ जाएंगे।
भाई को था हत्या का शक
आजादविंदर को शक था कि भाई के साथ कुछ अनहोनी हुई है। उसने बताया-भैया के बारे में भाभी से पूछने पर वह गोलमोल जबाव देती या टाल जाती थी।
पत्नी ने कहा-बीमारी में मरा, क्रियाकर्म का खर्चा बचाने घर में दफनाया
पंडरी टीआई नाजिर बाटी के अनुसार मनप्रीत ने पूछताछ में कहा- पति को टीबी व शुगर की बीमारी, जिससे डेढ़ साल पहले घर में ही उसने दम तोड़ा। गरीबी के कारण घर चलाना मुश्किल था तो क्रियाकर्म के लिए कहां से पैसे लाती। यह बात उसने पति के दोस्त रामा यादव को बताई और उसकी मदद से लाश को घर में ही दफना दिया।
क्रब में कर रखा था छेद
पडोसियों का कहना है कि मनप्रीत ने रामा यादव के साथ मिलकर राजविंद की हत्या कर दी, क्योंकि वह इन दोनों के संबंधों में रोड़ा बन गया था। जहां राजविंदर दफन था वहां एक छोटा सा छेद भी दिखता था, जिससे अकसर बदबू आती थी। शिकायत करने पर मनप्रीत वहां लोबान जला देती थी। जादू-टोना की आशंका भी जताई जा रही है, क्योंकि जहां शव गड़ा हो, वहां छेद रखने की क्या जरूरत थी?

You May Also Like

English News