‘पद्मावती’ की रिलीज को लेकर राजपूतों ने किया ये बड़ा ऐलान, 17 नवंबर को करेंगे ये काम

जैसे जैसे फिल्म ‘पद्मावती’ की रिलीज डेट करीब आती जा रही है फिल्म के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली की मुश्किलें और भी बढ़ती जा रही है। राजस्थान के राजपूत संगठनों ने ऐलान किया है कि यदि सरकार फिल्म को बैन नहीं करती है तो 17 नवंबर को ऐतिहासिक चित्तौड़गढ़ के किले को बंद रखा जाएगा। ​'पद्मावती' की रिलीज को लेकर राजपूतों ने किया ये बड़ा ऐलान, 17 नवंबर को करेंगे ये कामकेजरीवाल सरकार की लापरवाही से जहरीली गैस का गुब्बारा बनी दिल्ली: मनोज तिवारी

जौहर भवन में हुई बैठक में राजपूत संगठनों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि 16 नवंबर तक फिल्म को बैन नहीं किया जाता है तो 17 नवंबर को चित्तौड़गढ़ के किले को पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा और पर्यटकों को किला देखने आने से रोक दिया जाएगा। 

शनिवार को चित्तौड़गढ़ किले के पहले दरवाजे पाडनपोल पर राजपूत संगठनों का धरना जारी रहा। इधर राजपूत संगठन की चेतावनी को देखते हुए प्रशासन ने चित्तौड़ दुर्ग की सुरक्षा बढ़ा दी है और आज किले के कुंभा महल,पद्मिनी महल और अन्य मंदिरो पर सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए है।

ट्यूरिस्ट गाइड एसोसिएशन भी आया आगे

इधर, जयपुर के आमेर में ट्यूरिस्ट गाइड एसोसिएशन के सदस्यों ने भी शनिवार को फिल्म का पुरजोर विरोध किया है। संघ के सदस्यों ने आमेर किले पर जोरदार नारेबाजी करते हुए सरकार से  फिल्म को बैन करने की अपील की है। गौरतलब है कि राजस्थान में संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती पर विवाद गहराता ही जा रहा है। जहां एक तरफ राजपूत संगठन फिल्म का भारी विरोध कर रहे हैं तो राजस्थान के अलग अलग राजघराने के लोग भी अब खुलकर फिल्म के विरोध में सामने आ रहे हैं। 

You May Also Like

English News