पद्मावती विवाद को लेकर अब दीपिका को मिली बहुत बड़ी धमकी…

पद्मावती विवाद में दीपिका पादुकोण को करणी सेना की तरफ से नाक काटने की धमकी मिलने के बाद मुंबई पुलिस ने उनकी सुरक्षा बढ़ा दी है. उनके मुंबई स्थित घर और कार्यालय में सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी.पद्मावती विवाद को लेकर अब दीपिका को मिली बहुत बड़ी धमकी...गुजरात चुनावः पुराने जीत के फार्मूले पर असमंजस में पड़े अमित शाह और PM मोदी…

गौरतलब है कि गुरुवार को राजपूत करणी सेना के महिपाल सिंह मकराना ने दीपिका की नाक काटने की धमकी दी थी. उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा- राजपूत महिलाओं पर कभी हाथ नहीं उठाते, लेकिन जरूरत पड़ी तो हम दीपिका के साथ वही करेंगे जो लक्ष्मण ने शूर्पणखा के साथ किया था.

बढ़ाई गई भंसाली की सुरक्षा

विवाद के मद्देनजर महाराष्ट्र सरकार ने भंसाली का सिक्योरिटी कवर भी बढ़ाया है. पहले भंसाली के घर और जुहू स्थित आफिस के बाहर पुलिस का पहरा था. अब भंसाली के साथ दो गनमैन 24 घंटे के लिए तैनात किए गए हैं. ये सुरक्षा भंसाली को तब तक दी जाएगी, जब तक उन पर खतरा है. इसके साथ ही भंसाली के घर और उनके आफिस के बाहर पुलिस पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई है.

फिल्ममेकर्स सीमा में रहें तो बेहतर- गडकरी

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने फिल्ममेकर्स पर आरोप लगाते हुए कि भाषण की स्वतंत्रता निरपेक्ष नहीं है. अभिव्यक्ति की आजादी मूलभूत अधिकार जरूर है लेकिन एक सीमा में रहे तो बेहतर है. उन्होंने कहा, मेकर्स को सांस्कृतिक संवेदनशीलता बनाए रखने की आवश्यकता है. फिल्म में इतिहास के साथ छेड़छाड़ नहीं किया जा सकता. लोगों को फिल्म से नाराज होने का अधिकार है. बीजेपी के सीनियर नेता का यह बयान उस समय आया है जब देशभर में फिल्म के खिलाफ प्रदर्शन उग्र हो रहा है. 

क्यों है विवाद ?

कई बातों को लेकर विवाद है. आरोपों के मुताबिक़ फिल्म में अलाउद्दीन खिलजी को महिमामंडित किया गया है. खिलजी और रानी पद्मिनी के बीच ड्रीम सीक्वेंस फिल्माया गया है. रानी पद्मावती को उस तरह दिखाया गया जैसा राजपूत या राजपरिवारों में नहीं होता. घूमर डांस में भी राजपूत समाज की गलत प्रस्तुति हुई. कहा जा रहा कि पुरुषों के सामने रानियां डांस नहीं करती.

ये फिल्म सात सौ साल पहले की एक कहानी पर बन रही है. हिंदी कवि मालिक मोहम्मद जायसी ने पद्मावत लिखी थी. इसमें रानी पद्मिनी और खिलजी का जिक्र है. कुछ लोग गल्प मानते हैं तो वहीं कई लोग इसे ऐतिहासिक कहानी बताते हैं. कहा जाता है कि खिलजी रानी पद्मिनी को लेकर आशक्त था. उसने मेवाड़ पर हमला कर दिया था. रानी पद्मिनी ने 16 हजार राजपूत महिलाओं के साथ जौहर कर लिया था.

सफाई दे चुके हैं भंसाली

बता दें कि पद्मावती में अलाउद्दीन खिलजी और रानी पद्मिनी के बीच ड्रीम सीक्वेंस को लेकर विवाद था जिस पर मेकर्स की ओर से सफाई आ चुकी है. भंसाली ने हाल ही में सोशल मीडिया में एक बार फिर कहा कि फिल्म में इस तरह का कोई सीक्वेंस नहीं है. ये फिल्म 1 दिसंबर को रिलीज होनी है.

You May Also Like

English News