पद्मावती विवाद पर बोले साक्षी महाराज, फिल्म वालों को देश से कोई मतलब नहीं, सिर्फ चाहिए पैसा

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण स्टारर संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ लगातार विरोध झेल रही है. इस लिस्ट में बीजेपी नेता और सांसद साक्षी महाराज का नाम भी जुड़ गया है. फिल्म के विरोध में बालते हुए साक्षी महाराज ने कहा कि इस फिल्म को रिलीज नहीं होना चाहिए.पद्मावती विवाद पर बोले साक्षी महाराज, फिल्म वालों को देश से कोई मतलब नहीं, सिर्फ चाहिए पैसाप्रद्युम्न हत्याकांड: फंसाने वाले पुलिस अधिकारियों पर बस कंडक्टर अशोक करेगा केस…

साक्षी महाराज से जब फिल्म को लेकर बात की गई तो उनका कहना था कि इतिहास के साथ छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी. जिस तरह पद्मावती, महारानी, हिंदू और किसानों का मजाक बनाया जा रहा है, सरकार और प्रशासन को इस ओर कड़े कदम उठाने चाहिए. फिल्म को पूरी तरह बैन कर देना चाहिए. आगे बोलते हुए साक्षी महाराज ने कहा कि फिल्म इंडस्ट्री को अपने देश और उसकी इज्ज्त से कोई लेना-देना नहीं है. देश से नहीं उन्हें पैसे से प्यार है. ये लोग पैसे के लिए नंगे होने के साथ-साथ कुछ भी कर सकते हैं.

हाल ही में साक्षी महाराज से पहले बीजेपी सांसद चिंतामणि मालवीय ने विवादित बयान देते हुए कहा था कि फिल्‍मी दुनिया में, एक पत्‍नी आज छोड़ दी कल दूसरी के साथ और जिनकी बीवी रोज शौहर बदलती हैं उनके लिए जौहर की समझना काफी मुश्किल है. गुजरात में भी भाजपा ने इस फिल्म को बैन करने की मांग की है. 

पद्मावती को लेकर राजनीतिक विवाद बढ़ता ही जा रहा है. इस बीच फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली को मिल रही धमकियों के मद्देनजर पुलिस ने उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई है. सूत्रों के मुताबिक़ करीब 15-16 पुलिसकर्मियों की टीम मुंबई में जुहू स्थित भंसाली के दफ्तर के बाहर तैनात कर दी गई है. ये सुरक्षा बंदोबस्त 24 घंटे की है. पुलिस के सूत्रों ने इसकी पुष्टि भी की है.

सूत्रों के मुताबिक ये कवायद पद्मावती को लेकर बढ़ रहे विवाद के मद्देनजर है. पुलिस सुरक्षा पद्मावती के रिलीज होने तक रहेगी. बता दें कि पद्मावती में इतिहास के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए कई संगठनों ने चेतावनी दी है. राजस्थान में शूटिंग के दौरान भी करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने फिल्म के सेट पर तोड़-फोड़ के साथ भंसाली के साथ हाथापाई की थी.

You May Also Like

English News