पद्मावत पर करणी सेना हुई नरम, देखना चाहती है फिल्म

पद्मावत विवाद में नया मोड़ आ गया है. खबरों के अनुसार राजपूत करणी सेना ने फिल्म पद्मावत को परदे पर उतरने से पहले देखने पर रजो हो गई है. करणी सेना के संरक्षक लोकेन्द्र सिंह कालवी कहा ‘हम फिल्म को देखने के लिये तैयार है, हमने कभी नहीं कहा कि हम फिल्म नहीं देखेंगे. फिल्म निर्माता ने एक वर्ष पूर्व फिल्म की विशेष स्क्रीनिंग के लिये आश्वासन दिया था और अब उन्होंने स्क्रीनिंग के लिये लिखा है, हम उसके लिये तैयार है.’ ये बात लोकेन्द्र सिंह कालवी ने पीटीआई भाषा में कही .पद्मावत पर करणी सेना हुई नरम, देखना चाहती है फिल्म

नीति मोहन ने संजय लीला भंसाली का किया आभार व्यक्त…

इसके उलट विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि फिल्म पद्मावत का विहिप, बजरंग दल, उससे जुडे हुए हिन्दू संगठन जोर शोर से विरोध करेंगे और फिल्म को परदे पर नहीं उतरने देंगे.

तोगड़िया ने कहा कि हिन्दू संगठनों को सड़कों पर उतरकर लोकतांत्रिक तरीके से फिल्म का विरोध कर. मामला केवल राजपूत समाज का नहीं है बल्कि उन सब हिन्दू जातियों का है, जिन्होंने अपने आत्मसम्मान के लिये जौहर किया था. यदि ऐसा नहीं होता है तो जनता को फिल्म को परदे पर उतरने से रोकने के लिये ‘जनता कर्फ्यू’ लगाने के लिये आगे आना चाहिए. फ़िलहाल संशय जारी है कि फिल्म को लेकर अंतिम निर्णय क्या होगा .

You May Also Like

English News