पहली बार अखिलेश और मायावती होंगे एक साथ, होगा दलितों- पिछड़ों की नई राजनीति का आगाज

ऐसा पहली बार होने जा रहा है कि अखिलेश यादव और मायावती एक साथ मंच से जनता को संबोधित करेंगे। इसे इतिहास का सबसे अलग दिन और दलितों- पिछड़ों की नई राजनीति का आगाज कहा जा सकता है। हालांकि इस रैली में और क्या होगा इसके बारे में कुछ कहना जल्दबाजी होगी।दलितों- पिछड़ों की नई राजनीति का आगाज, पहली बार अखिलेश और मायावती होंगे एक साथ

राष्ट्रीय जनता दल की 27 अगस्त को पटना में होने जा रही बड़ी रैली में अखिलेश यादव और मायावती भी मंच पर होंगे। ऐसा पहली बार होने जा रहा है कि अखिलेश यादव और मायावती एक ही मंच से संबोधन करेंगे। अखिलेश यादव ने इसकी पुष्टि कर दी है।

#बड़ी खबर: बिखर गया समाजवाद, सपा पार्टी के 26 नेताओं ने एक साथ दिया इस्तीफा

गौरतलब है कि 27 अगस्त की रैली को काफी अहम माना जा रहा है और बिहार में जदयू के साथ नाता टूटने के बाद इसे शक्ति प्रदर्शन के रूप में देखा जा रहा है। इसलिए राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने बिहार के अलावा पड़ोसी राज्य झारखंड से भी अधिक से अधिक संख्या में लोगों की सहभागिता सुनिश्चित कराने का निर्देश प्रदेश राजद नेताओं को दिया है।

#बड़ी खुशखबरी: अब रेल यात्री IRCTC की मदद से चंद सेकेंडों में बुक कर सकेंगे ट्रेन टिकट

मिली जानकारी के मुताबिक, 27 अगस्त की रैली में उत्तर प्रदेश से भी काफी संख्या में कई राजनीतिक दलों के लोग जा रहे हैं।

You May Also Like

English News