बड़ी खबर: पाकिस्तान की सच्चाई दिखाएगा अमेरिका, कुलभूषण जाधव को बचाने के लिए ट्रंप आए सामने

वॉशिंगटन। कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान ने जसूसी के आरोप में मौत की सजा सुनाई है। लेकिन भारत ने पाक की इस हरकत को गैरकानूनी औऱ गलत बताया है। भारत सरकार जाधव को बचाने के लिए हर संभव प्रयास करने में जुटी हई है। ऐसे में अमेरिका से भारत के लिए अच्छी खबर आई है। कुलभूषण जाधव को मौत की सजा से बचाने की कोशिश में अब अमेरिका में अमेरिका में रह रहे भारतीय अमेरिकी समुदाय भी जुट गया है। उसने ट्रंप प्रशासन को मामले में दखल देने की मांग वाली व्हाइट हाउस याचिका लांच की है।

व्हाइट हाउस की वेबसाइट पर वी द पीपुल पिटीशन में कहा गया है कि जाधव के खिलाफ लगाए गए आरोप कि वह भारत के लिए जासूसी कर रहा था, पूरी तरह से गलत और मनगढ़ंत हैं। ट्रंप प्रशसन इस पर कोई प्रतिक्रिया दे इसके लिए 14 मई तक इस पर एक लाख लोगों के हस्ताक्षर होने जरूरी हैं। बताया जा रहा है कि जाधव के मुद्दे को लेकर ट्रंप सरकार बड़ा फैसला ले सकती है।

इस याचिका में कहा गया है, भारत को कुलभूषण जाधव तक राजनयिक पहुंच नहीं देना स्पष्ट रूप से यह सिद्ध करता है कि जिन आरोपों पर जाधव को मौत की सजा सुनाई गई है वह पूरी तरह से गलत और मनगढ़ंत हैं।

इसमें आगे कहा गया है कि, इसको ध्यान में रखते हुए मैं उपयुक्त एंव सक्षम अधिकारियों से मामले में हस्तक्षेप करने और यह सुनिश्चत करने का अनुरोध करता हूं कि जाधव को उस काम के लिए दंडित नहीं किया जाए जो उसने कभी किया ही नहीं। 

गौरतलब है कि नौसेना के पूर्व अधिकारी को पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने भारत के लिए जासूसी करने के आरोप में मौत की सजा सुनाई है।

You May Also Like

English News