पाकिस्तान के अलावा दूसरी जगह से भी आता है पैसा. कश्मीर के पूर्व सीएम फारुख अब्दुल्ला

पाकिस्तान से फंडिंग के आरोप में 7 हुर्रियत नेताओं की गिरफ्तारी कर ली गई है. इस पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि जो हुआ अच्छा हुआ. मगर पूरा देश ये जानना चाहता है कि ये पैसा कहां से आया. उन्होंने ये भी सवाल उठाए कि इस बात की भी जांच होनी चाहिए कि ये पैसा कैसे और कहां से आता है.पाकिस्तान के अलावा दूसरी जगह से भी आता है पैसा. कश्मीर के पूर्व सीएम फारुख अब्दुल्लाकल होगी RJD विधायक दल और कैबिनेट की बैठक, तेजस्वी पर सस्पेंस बरकरार…

इतना हीं नहीं उन्होंने बताया कि आतंक को बढ़ावा देने के लिए दूसरी जगह से भी पैसा आता है. इसकी भी जांच होनी चाहिए. उन्होंने दावा कि हवाला के जरिए पाकिस्तान के अलावा भी कई जगहों से पैसा आता है. फारुख अब्दुल्ला ने इसकी भी जांच की मांग की.

कश्मीर के पूर्व सीएम ने दूलत की किताब का भी हवाला दिया. उन्होंने कहा कि किताब में साफ लिखा गया है कि केंद्र सरकार ने भी अलगाववादियों की फंडिंग की है. उन्होंने सवाल किया कि प्रधानमंत्री के निवास से जो पैसा गया, वह किस लिए गया. फारुख अब्दुल्ला ने कहा ”मैं यह समझता हूं वो पैसा हम लोगों को हराने के लिए भेजा गया. जो नेशनलिस्ट पार्टी है, उन्हें गिराने के लिए गया.”

हुर्रियत नेताओं की गिरफ्तारी पर फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि मैं किसी के खिलाफ नहीं हूं. वहीं मीरवाइज, यासीन मलिक और सैयद अली शाह गिलानी को नोटिस भेजे जाने पर फारुख अब्दुल्ला का कहना है ”यह लोग भी अपना नाम क्लियर करेंगे. हम देखना चाहते हैं कि इनको भी कोर्ट में जाना चाहिए, ताकि दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा.”

वहीं पाकिस्तान के एजेंट के तौर पर काम करने के सवाल पर फारुख अब्दुल्ला ने कहा उन्हें इसकी जानकारी नहीं है. हुर्रियत नेताओं के समर्थन या विरोध का सवाल करने पर अब्दुल्ला ने कहा कि किसी के साथ होने और खिलाफ होने का सवाल ही नहीं है. उन्होंने बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी का हवाला देते हुए कहा कि उनसे पूछिए जब वो गृहमंत्री थे, तब मैं क्या कहता था. फारुख अब्दुल्ला ने बताया कि उन्होंने उसी वक्त आगाह किया था कि हवाला के जरिए कश्मीर में आतंक की परवरिश के लिए पैसा आ रहा है. फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि ऐसा होने के बावजूद किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई.

बता दें कि आजतक ने स्टिंग ऑपरेशन कर इस बात का खुलासा किया था कि पाकिस्तान से कश्मीर में हालात बिगाड़ने के लिए फंडिंग की जाती है. जिसके बाद केंद्र सरकार ने एनआईए को इस मामले की जांच सौंपी थी. एनआईए ने अब हुर्रियत के सात नेताओं को गिरफ्तार किया है.

loading...

You May Also Like

English News