पाकिस्तान के कारण भारत से छीनी गई एशिया कप की मेजबानी

 भारत से एशिया कप की मेजबानी पाकिस्तान के साथ जारी तनाव के चलते छीन ली गई है और अब इसे संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में आयोजित कराने का फैसला किया गया है. टूर्नामेंट का आयोजन इस साल 13 से 28 सितंबर तक दुबई और अबुधाबी में होगा.दिल्ली: भारत से एशिया कप की मेजबानी पाकिस्तान के साथ जारी तनाव के चलते छीन ली गई है और अब इसे संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में आयोजित कराने का फैसला किया गया है. टूर्नामेंट का आयोजन इस साल 13 से 28 सितंबर तक दुबई और अबुधाबी में होगा.   आगामी एशिया कप का आयोजन भारत की जगह UAE में करने का फैसला एशियाई क्रिकेट परिषद (एसीसी) ने किया क्योंकि बीसीसीआई सरकार से पाकिस्तान की मेजबानी की अनुमति नहीं ले सकी. मंगलवार को कुआलालंपुर में एसीसी मुख्यालय में हुई बैठक में सर्वसम्मति से यह फैसला लिया गया. इस बैठक में बीसीसीआई का प्रतिनिधित्व CEO राहुल जौहरी ने किया जिसकी अध्यक्षता पीसीबी अध्यक्ष नजम सेठी ने की. बैठक में जौहरी ने आयोजन स्थल बदलने का आग्रह किया.  बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘जौहरी ने एसीसी बोर्ड को मौजूदा हालात से अवगत कराया. बीसीसीआई को पाकिस्तान के खिलाफ तटस्थ स्थल पर सिर्फ आईसीसी के टूर्नामेंटों में खेलने की अनुमति है, जबकि एशिया कप एसीसी का टूर्नामेंट है, जिसमें पाकिस्तान के खिलाफ खेलने के लिए उसे सरकार से अनुमति लेनी होगी. जब सरकार से ऐसी अनुमति मिल गई तब बोर्ड ने अपना आग्रह रखा.’ बता दें कि एशिया कप दो साल में एक बार खेला जाता है, जो अब वनडे और टी-20 दोनों प्रारूप में खेला जाता है. पिछली बार 2016 में टी-20 वर्ल्ड कप के तैयारियों के तहत इसे इसे टी-20 प्रारूप में खेला गया था. इस बार इसे 50 ओवर प्रारूप में खेला जाएगा.

 आगामी एशिया कप का आयोजन भारत की जगह UAE में करने का फैसला एशियाई क्रिकेट परिषद (एसीसी) ने किया क्योंकि बीसीसीआई सरकार से पाकिस्तान की मेजबानी की अनुमति नहीं ले सकी. मंगलवार को कुआलालंपुर में एसीसी मुख्यालय में हुई बैठक में सर्वसम्मति से यह फैसला लिया गया. इस बैठक में बीसीसीआई का प्रतिनिधित्व CEO राहुल जौहरी ने किया जिसकी अध्यक्षता पीसीबी अध्यक्ष नजम सेठी ने की. बैठक में जौहरी ने आयोजन स्थल बदलने का आग्रह किया.

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘जौहरी ने एसीसी बोर्ड को मौजूदा हालात से अवगत कराया. बीसीसीआई को पाकिस्तान के खिलाफ तटस्थ स्थल पर सिर्फ आईसीसी के टूर्नामेंटों में खेलने की अनुमति है, जबकि एशिया कप एसीसी का टूर्नामेंट है, जिसमें पाकिस्तान के खिलाफ खेलने के लिए उसे सरकार से अनुमति लेनी होगी. जब सरकार से ऐसी अनुमति मिल गई तब बोर्ड ने अपना आग्रह रखा.’ बता दें कि एशिया कप दो साल में एक बार खेला जाता है, जो अब वनडे और टी-20 दोनों प्रारूप में खेला जाता है. पिछली बार 2016 में टी-20 वर्ल्ड कप के तैयारियों के तहत इसे इसे टी-20 प्रारूप में खेला गया था. इस बार इसे 50 ओवर प्रारूप में खेला जाएगा.

You May Also Like

English News