पाकिस्तान के ख़िलाफ़ अमेरिका का सख़्त कदम

 पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान ने एक बड़ी खबर की पुष्टि की जिसमें कहा जा रहा था कि अमेरिका अपने देश में पाकिस्तानी राजनयिकों पर प्रतिबंध लगाने जा रहा है. यह प्रतिबंध एक मई से प्रभावी होंगे. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल के मुताबिक, “वॉशिंगटन में पाकिस्तानी राजनयिकों पर यात्रा प्रतिबंधों के संदर्भ में हमें अमेरिका से आधिकारिक सूचना मिली है. वहां एक मई 2018 से पाकिस्तानी राजनयिकों पर प्रतिबंध लग रहा है.पाकिस्तान: पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान ने एक बड़ी खबर की पुष्टि की जिसमें कहा जा रहा था कि अमेरिका अपने देश में पाकिस्तानी राजनयिकों पर प्रतिबंध लगाने जा रहा है. यह प्रतिबंध एक मई से प्रभावी होंगे. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल के मुताबिक, "वॉशिंगटन में पाकिस्तानी राजनयिकों पर यात्रा प्रतिबंधों के संदर्भ में हमें अमेरिका से आधिकारिक सूचना मिली है. वहां एक मई 2018 से पाकिस्तानी राजनयिकों पर प्रतिबंध लग रहा है."  गौरतलब है कि अमेरिकी अंडर सेक्रेटरी ऑफ स्टेट फॉर पॉलिटिकल अफेयर्स थॉमस शैनन के 17 अप्रैल को इस बारे में बयान दिया था. इस बयान में शैनन ने कहा था कि अमेरिका वॉशिंगटन में पाकिस्तान के राजनयिकों पर ठीक उसी तरह के प्रतिबंध लगाएगा, जैसे पाकिस्तान ने अमेरिका के  राजनयिकों पर इस्लामाबाद में लगाए हैं.  पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने इस्लामाबाद में कहा, "यह मुद्दा मुख्यतौर पर पारस्परिकता का है. दोनों पक्ष एक-दूसरे के संपर्क में हैं और हमें उम्मीद है कि इस मुद्दे को जल्द ही सुलझा लिया जाएगा. हम फिलहाल इस पर कुछ नहीं कह सकते." ज्ञात हों  कि कुछ दिनों पहले ही अमेरिका की ओर से पाकिस्तानी डिप्लोमेट्स के लिए नए कोड ऑफ कंडक्ट तय किए गए थे.

गौरतलब है कि अमेरिकी अंडर सेक्रेटरी ऑफ स्टेट फॉर पॉलिटिकल अफेयर्स थॉमस शैनन के 17 अप्रैल को इस बारे में बयान दिया था. इस बयान में शैनन ने कहा था कि अमेरिका वॉशिंगटन में पाकिस्तान के राजनयिकों पर ठीक उसी तरह के प्रतिबंध लगाएगा, जैसे पाकिस्तान ने अमेरिका के  राजनयिकों पर इस्लामाबाद में लगाए हैं.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने इस्लामाबाद में कहा, “यह मुद्दा मुख्यतौर पर पारस्परिकता का है. दोनों पक्ष एक-दूसरे के संपर्क में हैं और हमें उम्मीद है कि इस मुद्दे को जल्द ही सुलझा लिया जाएगा. हम फिलहाल इस पर कुछ नहीं कह सकते.” ज्ञात हों  कि कुछ दिनों पहले ही अमेरिका की ओर से पाकिस्तानी डिप्लोमेट्स के लिए नए कोड ऑफ कंडक्ट तय किए गए थे.

You May Also Like

English News