पाकिस्तान गए श्रद्धालुओं में से एक युवक लापता

 सिख त्यौहार बैसाखी पर भारत से पाकिस्तान गए 1700 श्रद्धालुओं का जथा शनिवार को वापस अपने वतन लौट आया है, लेकिन इनमे से दो लोगों की कमी बताई जा रही है, पाकिस्तान से न लौटने वालों में एक नाम तो किरण बाला उर्फ़ आमना का है, जिसने पाकिस्तान में इस्लाम क़ुबूल करके वहां के निवासी से शादी कर ली है, आमना तो वैसे भी भारत वापिस नहीं आना चाहती, यहाँ तक कि उसने लाहौर हाई कोर्ट में पाकिस्तानी नागरिकता के लिए अर्जी भी लगा दी है.अमृतसर : सिख त्यौहार बैसाखी पर भारत से पाकिस्तान गए 1700 श्रद्धालुओं का जथा शनिवार को वापस अपने वतन लौट आया है, लेकिन इनमे से दो लोगों की कमी बताई जा रही है, पाकिस्तान से न लौटने वालों में एक नाम तो किरण बाला उर्फ़ आमना का है, जिसने पाकिस्तान में इस्लाम क़ुबूल करके वहां के निवासी से शादी कर ली है, आमना तो वैसे भी भारत वापिस नहीं आना चाहती, यहाँ तक कि उसने लाहौर हाई कोर्ट में पाकिस्तानी नागरिकता के लिए अर्जी भी लगा दी है.  लेकिन अगर दूसरे शख्स की बात करें तो कुछ संदेह उत्पन्न होता है, क्योंकि 24 वर्षीय अमरजीत सिंह भी जत्थे के साथ पाकिस्तान गया था, लेकिन साथ गए यात्रियों ने बताया कि 15 अप्रैल के बाद से अमरजीत का कुछ पता नहीं है. 10 दिन के पर्यटक वीजा पर पाकिस्तान गए अमरजीत सिंह का वीजा भी ख़त्म होने पर है, ऐसे में अमरजीत के साथ पाकिस्तान में कुछ भी अनहोनी हो सकती है. जानकारी के अनुसार अमरजीत ने अपना पासपोर्ट भी नानकाना साहिब में छोड़ दिया था.  हालांकि अमरजीत के लापता होने कि कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिली है, लेकिन एकाएक अमरजीत के गायब होने से खालिस्तान संगठन और किसी रोमांटिक एंगल का भी शक गहराते जा रहा है. अमर जीत के न लौटने पर उसके परिजन काफी परेशान हैं, अमरजीत के भाई प्रभजोत सिंह ने इसकी जानकारी पुलिस को देते हुए कहा है, कि अमरजीत पहले मलेशिया में नौकरी करता था लेकिन पिछले कुछ समय से गाँव में खेतीबाड़ी संभाल रहा था, प्रभजोत ने बताया कि अमरजीत दूसरे देश में जाकर काम करने का इच्छुक था. आपको बता दें कि अमरजीत अमृतसर जिले में नारंजनपुर का निवासी है.

लेकिन अगर दूसरे शख्स की बात करें तो कुछ संदेह उत्पन्न होता है, क्योंकि 24 वर्षीय अमरजीत सिंह भी जत्थे के साथ पाकिस्तान गया था, लेकिन साथ गए यात्रियों ने बताया कि 15 अप्रैल के बाद से अमरजीत का कुछ पता नहीं है. 10 दिन के पर्यटक वीजा पर पाकिस्तान गए अमरजीत सिंह का वीजा भी ख़त्म होने पर है, ऐसे में अमरजीत के साथ पाकिस्तान में कुछ भी अनहोनी हो सकती है. जानकारी के अनुसार अमरजीत ने अपना पासपोर्ट भी नानकाना साहिब में छोड़ दिया था.

हालांकि अमरजीत के लापता होने कि कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिली है, लेकिन एकाएक अमरजीत के गायब होने से खालिस्तान संगठन और किसी रोमांटिक एंगल का भी शक गहराते जा रहा है. अमर जीत के न लौटने पर उसके परिजन काफी परेशान हैं, अमरजीत के भाई प्रभजोत सिंह ने इसकी जानकारी पुलिस को देते हुए कहा है, कि अमरजीत पहले मलेशिया में नौकरी करता था लेकिन पिछले कुछ समय से गाँव में खेतीबाड़ी संभाल रहा था, प्रभजोत ने बताया कि अमरजीत दूसरे देश में जाकर काम करने का इच्छुक था. आपको बता दें कि अमरजीत अमृतसर जिले में नारंजनपुर का निवासी है.  

You May Also Like

English News