पाकिस्तान ने बंद की कश्मीर को भारत का हिस्सा बताने वाली बुक

पाकिस्‍तान में सोशल स्‍टडीज की बुक्‍स को बंद कर दिया गया है. दरअसल मामला यह है कि यहाँ के कुछ निजी स्‍कूलों में पढ़ाई जाने वाली सोशल स्‍टडीज की बुक्‍स को प्रतिबंधित कर दिया गया है. इन बुक्‍स में भारत का एक नक्‍शा बना हुआ है. इस नक्‍शे में पाक अधिकृत कश्‍मीर को भारत का अंग बताया गया है. पाकिस्‍तान में सोशल स्‍टडीज की बुक्‍स को बंद कर दिया गया है. दरअसल मामला यह है कि यहाँ के कुछ निजी स्‍कूलों में पढ़ाई जाने वाली सोशल स्‍टडीज की बुक्‍स को प्रतिबंधित कर दिया गया है. इन बुक्‍स में भारत का एक नक्‍शा बना हुआ है. इस नक्‍शे में पाक अधिकृत कश्‍मीर को भारत का अंग बताया गया है.   सामाजिक विज्ञान की ये बुक्‍स पाकिस्‍तान के निजी स्‍कूलों की कक्षा दूसरी, चौथी, पांचवी, और आठवीं में पढ़ाई जाती थी. इन बुक्‍स के बारे में पता चलते ही पाकिस्‍तान के पंजाब कैरिकुलम एण्‍ड टेक्‍सबुक बोर्ड (PCTB) के प्रबंध निदेशक अब्‍दुल कयूम ने 4 जून को एक सर्कुलर जारी किया था. जिसमें इन बुक्‍स पर तत्‍काल प्रभाव से बेन लगाने की बात कही गई थी.   आपको बता दें कि पाकिस्तान के बोर्ड द्वारा इस जारी किये गए सुर्कलर में कहा गया है कि विवादित और आपत्तिजनक कंटेट मौजूद होने के चलते PCTB सोशल स्‍टडीज की इन पुस्‍तकों पर प्रतिबंध लगा रहा है. इन बुक्‍स में मौजूद कंटेंट को PCTB ने एप्रूव नहीं किया है और न ही पाकिस्तान में किसी शैक्षिक संस्‍थान में इसे पढ़ाए जाने की अनुमति दी गई है, जो कि PCTB Act 2015की धारा 10 के तहत जरूरी है.

सामाजिक विज्ञान की ये बुक्‍स पाकिस्‍तान के निजी स्‍कूलों की कक्षा दूसरी, चौथी, पांचवी, और आठवीं में पढ़ाई जाती थी. इन बुक्‍स के बारे में पता चलते ही पाकिस्‍तान के पंजाब कैरिकुलम एण्‍ड टेक्‍सबुक बोर्ड (PCTB) के प्रबंध निदेशक अब्‍दुल कयूम ने 4 जून को एक सर्कुलर जारी किया था. जिसमें इन बुक्‍स पर तत्‍काल प्रभाव से बेन लगाने की बात कही गई थी. 

आपको बता दें कि पाकिस्तान के बोर्ड द्वारा इस जारी किये गए सुर्कलर में कहा गया है कि विवादित और आपत्तिजनक कंटेट मौजूद होने के चलते PCTB सोशल स्‍टडीज की इन पुस्‍तकों पर प्रतिबंध लगा रहा है. इन बुक्‍स में मौजूद कंटेंट को PCTB ने एप्रूव नहीं किया है और न ही पाकिस्तान में किसी शैक्षिक संस्‍थान में इसे पढ़ाए जाने की अनुमति दी गई है, जो कि PCTB Act 2015की धारा 10 के तहत जरूरी है. 

You May Also Like

English News