पाकिस्तान में मौजूद है दुनिया का सबसे खतरनाक ब्रिज

वैसे तो पूरी दुनिया में बहुत सारे खूबसूरत पुल मौजूद है. जो अपनी खूबसूरती के कारण लोगों के आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं. पर आज हम आपको पूरी दुनिया के सबसे खतरनाक ब्रिज के बारे में बताने जा रहे हैं. वैसे तो पूरी दुनिया में बहुत सारे खूबसूरत पुल मौजूद है. जो अपनी खूबसूरती के कारण लोगों के आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं. पर आज हम आपको पूरी दुनिया के सबसे खतरनाक ब्रिज के बारे में बताने जा रहे हैं.   दुनिया का सबसे खतरनाक ब्रिज पाकिस्तान के गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र में मौजूद है. इस ब्रिज का नाम हुसैनी सस्पेंशन है. यह ब्रिज बोरिक लेक के ऊपर बना हुआ है, और इस ब्रिज को लोहे की तारों और लकड़ी की पट्टीयो से जोड़कर बनाया गया है. इस ब्रिज का निर्माण 1960 में पाकिस्तान के राष्ट्रपति अयूब खान के द्वारा करवाया गया था.   यह पुल पाकिस्तान के जराबाद और हुसैनी गांव को आपस में जोड़ने का काम करता है. इस पुल पर चलना किसी एडवेंचर से कम नहीं है. 2011 में धरती के खिसकने के कारण यह पूरी तरह से बर्बाद हो गया था. उसके बाद यहां की सरकार ने फिर से वैसा ही नए सस्पेंशन पुल का निर्माण करवाया.   ये अब पहले से भी ज्यादा खतरनाक है, इसके बीच में लगी लकड़ी की पट्टीया काफी काफी दूरी पर बनी हुई है. और जब आंधी तूफान आता है, तो यह पुल हिलने लगता है जिसके कारण इस पुल को पार करना और भी खतरनाक हो जाता है.

दुनिया का सबसे खतरनाक ब्रिज पाकिस्तान के गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र में मौजूद है. इस ब्रिज का नाम हुसैनी सस्पेंशन है. यह ब्रिज बोरिक लेक के ऊपर बना हुआ है, और इस ब्रिज को लोहे की तारों और लकड़ी की पट्टीयो से जोड़कर बनाया गया है. इस ब्रिज का निर्माण 1960 में पाकिस्तान के राष्ट्रपति अयूब खान के द्वारा करवाया गया था. 

यह पुल पाकिस्तान के जराबाद और हुसैनी गांव को आपस में जोड़ने का काम करता है. इस पुल पर चलना किसी एडवेंचर से कम नहीं है. 2011 में धरती के खिसकने के कारण यह पूरी तरह से बर्बाद हो गया था. उसके बाद यहां की सरकार ने फिर से वैसा ही नए सस्पेंशन पुल का निर्माण करवाया. 

ये अब पहले से भी ज्यादा खतरनाक है, इसके बीच में लगी लकड़ी की पट्टीया काफी काफी दूरी पर बनी हुई है. और जब आंधी तूफान आता है, तो यह पुल हिलने लगता है जिसके कारण इस पुल को पार करना और भी खतरनाक हो जाता है.

 

You May Also Like

English News