पाक ने सबसे ऊंचा झंडा फहरा मनाया आजादी का जश्न

लाहौर, प्रेट्र। पाकिस्तान ने दक्षिण एशिया में अब तक का सबसे ऊंचा झंडा फहराकर अपनी आजादी का 71वां जश्न मनाया। पाकिस्तान को भारत से एक दिन पहले ही 14 अगस्त, 1947 को ब्रिटिश हुकूमत से आजादी मिल गई थी। प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी ने इस मौके पर द्विपक्षीय संबंधों में गतिरोध के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि नई दिल्ली का विस्तारवादी तरीका रचनात्मक संबंधों में सबसे बड़ी बाधा है।पाक ने सबसे ऊंचा झंडा फहरा मनाया आजादी का जश्न

पीएम अब्बासी ने द्विपक्षीय संबंधों में गतिरोध के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार

 पाकिस्तान के सेनाप्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने बाघा-अटारी सीमा पर रविवार-सोमवार की मध्यरात्रि 12 बजे 120-बाय-80 फीट आकार वाला 400 फीट ऊंचा राष्ट्रीय झंडा फहराया। इस मौके पर जनरल बाजवा भी भारत और अफगानिस्तान पर निशाना साधने से बाज नहीं आए। भारत-अफगानिस्तान का नाम लिए बिना बाजवा ने कहा, ‘हम पाकिस्तान को कायद-ए-आजम और अल्लामा इकबाल का देश बनाएंगे। हमने कई बलिदान दिए हैं। देश शहीदों को कभी नहीं भुला सकता। मैं दुश्मनों को बताना चाहता हूं कि उनकी गोलियां कम पड़ जाएंगी, लेकिन हमारे जवानों के सीने नहीं। फिर चाहे पाकिस्तान के दुश्मन पूर्व या पश्चिम में क्यों न स्थित हों।’ दिल्ली स्थित पाक उच्चायोग में भी पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। पाकिस्तान के कार्यवाहक उच्चायुक्त सैयद हैदर शाह ने उच्चायोग में अपने देश का झंडा फहराया।

चीनी उपप्रधानमंत्री बोले, इस्पात से मजबूत चीन-पाक संबंध

पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर चीन के उपप्रधानमंत्री वेंग यांग विशेष अतिथि के तौर पर उपस्थित थे। इस्लामाबाद में स्वतंत्रता दिवस समारोह में उन्होंने कहा, दोनों देश हमेशा एक-दूसरे का साथ देते रहे हैं। चीन और पाकिस्तान की दोस्ती इस्पात से भी ज्यादा मजबूत है।

यांग ने कहा कि चीन पाकिस्तान के साथ रणनीतिक और आर्थिक संबंधों को बढ़ाएगा। चीन के हितों का समर्थन करेगा पाकपाकिस्तान के राष्ट्रपति मामून हुसैन ने कहा कि उनका देश चीन के प्रमुख हितों का समर्थन करेगा। उन्होंने वादा किया कि पाकिस्तान बेल्ट एंड रोड परियोजना में शामिल होगा और चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के निर्माण को बढ़ावा देगा।

You May Also Like

English News