पाक में सिख पुलिस अफसर की पगड़ी उछाल कर बालों से घसीटा गया

अल्‍पसंख्‍यकों को लेकर पाकिस्तान का रवैया दुनिया जानती है और यहाँ इन्हे किन किन बदसुलुकियो का सामना करना पड़ता है, इसकी ख़बरें आये दिन सुर्खियों में रहती है. ताज़ा मामले में पाक के पहले सिख पुलिस ऑफिसर गुलाब सिंह भी के साथ लाहौर में उनके घर में घुसकर उनकी पगड़ी उछाल दी गई. उन्हें बेइज्जत करते हुए मंगलवार को दबंगों ने उनकी पगड़ी उतार कर बालों से घसीटते हुए घर से बाहर निकाल फेंका.अल्‍पसंख्‍यकों को लेकर पाकिस्तान का रवैया दुनिया जानती है और यहाँ इन्हे किन किन बदसुलुकियो का सामना करना पड़ता है, इसकी ख़बरें आये दिन सुर्खियों में रहती है. ताज़ा मामले में पाक के पहले सिख पुलिस ऑफिसर गुलाब सिंह भी के साथ लाहौर में उनके घर में घुसकर उनकी पगड़ी उछाल दी गई. उन्हें बेइज्जत करते हुए मंगलवार को दबंगों ने उनकी पगड़ी उतार कर बालों से घसीटते हुए घर से बाहर निकाल फेंका.  आपबीती सोशल मीडिया पर गुलाब सिंह ने एक वीडियो के जरिये सबको बताई. वीडियो में उन्‍होंने बताया, 'मैं गुलाब सिंह पाकिस्तान का पहला सिख ट्रैफिक वॉर्डन हूं.  मेरा साथ ऐसा सलूक किया जा रहा है जैसा चोरों-डाकुओं के साथ किया जाता है. मुझे मेरे घर से घसीटकर बाहर निकाला गया और मेरे घर में ताले लगा दिए गए.' उन्होंने कहा, 'तारिक वजीर जो अडिशनल सेक्रटरी है और तारा सिंह जोकि पाकिस्तान गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी का भूतपूर्व प्रधान है, उन्होंने कुछ लोगों को खुश करने के लिए यह काम किया है. अदालत में मेरे केस भी चल रहे हैं. इस पूरे गांव में सिर्फ मुझे ही निशाना बनाया जा रहा है और मेरा घर खाली करवाया गया. आप देख सकते हैं मेरे सिर पर पगड़ी भी नहीं है.  वे मेरी पगड़ी भी छीनकर ले गए और उन्होंने मेरे केश भी खींचे हैं.'  गुलाब सिंह ने कहा, 'मैं आप लोगों से अनुरोध करता हूं कि मेरी ज्यादा से ज्यादा मदद करें और इस वीडियो को भी शेयर करें और पूरी दुनिया को यह बताएं कि पाकिस्तान में सिखों के साथ क्या जुल्म और ज्यादती हो रही है.'  गुलाब सिंह 1947 से पाक में बसे हुए है. उन्होंने पुलिस से अपनी बात कहने के लिए महज 10 मिनट का वक्त माँगा है.

आपबीती सोशल मीडिया पर गुलाब सिंह ने एक वीडियो के जरिये सबको बताई. वीडियो में उन्‍होंने बताया, ‘मैं गुलाब सिंह पाकिस्तान का पहला सिख ट्रैफिक वॉर्डन हूं.  मेरा साथ ऐसा सलूक किया जा रहा है जैसा चोरों-डाकुओं के साथ किया जाता है. मुझे मेरे घर से घसीटकर बाहर निकाला गया और मेरे घर में ताले लगा दिए गए.’ उन्होंने कहा, ‘तारिक वजीर जो अडिशनल सेक्रटरी है और तारा सिंह जोकि पाकिस्तान गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी का भूतपूर्व प्रधान है, उन्होंने कुछ लोगों को खुश करने के लिए यह काम किया है. अदालत में मेरे केस भी चल रहे हैं. इस पूरे गांव में सिर्फ मुझे ही निशाना बनाया जा रहा है और मेरा घर खाली करवाया गया. आप देख सकते हैं मेरे सिर पर पगड़ी भी नहीं है.  वे मेरी पगड़ी भी छीनकर ले गए और उन्होंने मेरे केश भी खींचे हैं.’

गुलाब सिंह ने कहा, ‘मैं आप लोगों से अनुरोध करता हूं कि मेरी ज्यादा से ज्यादा मदद करें और इस वीडियो को भी शेयर करें और पूरी दुनिया को यह बताएं कि पाकिस्तान में सिखों के साथ क्या जुल्म और ज्यादती हो रही है.’  गुलाब सिंह 1947 से पाक में बसे हुए है. उन्होंने पुलिस से अपनी बात कहने के लिए महज 10 मिनट का वक्त माँगा है. 

You May Also Like

English News