पाक रेल नेटवर्क के लिए चीन दे रहा है अरबों डॉलर्स का कर्ज

 चीन पाकिस्तान में रेल नेटवर्क को सुधारने के लिए मदद कर रहा है. चीन की और से इस प्रोजेक्ट में बड़ी आर्थिक मदद की जा रही है. इस प्रोजेक्ट को लेकर पाकिस्तानी एवं रहत महसूस कर रही है. 40 वर्षीय सॉफ्टवेयर बिजनस मेन फारुख मलिक कहते हैं कि जब वह बच्चे थे तभी से कराची से इस्लामाबाद ट्रेन से जाते हैं और काफी मुश्किल से 22 घंटे में यह सफर पूरा करते हैं. मलिक के मुताबिक, ‘ग्रीन लाइन जैसी ट्रेनें शुरू होने के बाद ट्रेन कम स्टेशनों पर रुकती है और अपने समय से चलती है, जो सबसे अच्छा बदलाव है.’इस्लामाबाद : चीन पाकिस्तान में रेल नेटवर्क को सुधारने के लिए मदद कर रहा है. चीन की और से इस प्रोजेक्ट में बड़ी आर्थिक मदद की जा रही है. इस प्रोजेक्ट को लेकर पाकिस्तानी एवं रहत महसूस कर रही है. 40 वर्षीय सॉफ्टवेयर बिजनस मेन फारुख मलिक कहते हैं कि जब वह बच्चे थे तभी से कराची से इस्लामाबाद ट्रेन से जाते हैं और काफी मुश्किल से 22 घंटे में यह सफर पूरा करते हैं. मलिक के मुताबिक, 'ग्रीन लाइन जैसी ट्रेनें शुरू होने के बाद ट्रेन कम स्टेशनों पर रुकती है और अपने समय से चलती है, जो सबसे अच्छा बदलाव है.'  पाकिस्तान रेलवे के सेक्रटरी परवीन आघा ने एक इंटरव्यू में कहा था कि पिछले दशक में पाकिस्तान का रेल नटवर्क भ्रष्टाचार, देरी और गंदगी का पर्याय बन गया था। लेकिन अब पाकिस्तान रेलवे ने बीते 5 साल में अपनी कमाई दोगुनी कर के 40.1 अरब डॉलर कर ली है और इसे अगले पांच सालों में फिर से दोगुना करने का लक्ष्य है. आघा ने कहा, 'यह हमारे लिए सबसे बड़े मौकों में से एक है। पूरे रेलवे सिस्टम का अपग्रेडेशन.'   'ब्लूमबर्ग' के मुताबिक, पेइचिंग कराची से पेशावर तक 1 हजार 163 मील रेल पटरी को अपग्रेड करने का काम करने वाला है. यह रेल लाइन अफगान सीमा से सटती है और इसके लिए चीन ने पाकिस्तान को 8 अरब डॉलर का कर्ज दिया है. यह रेल लाइन चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के महत्वाकांक्षी बेल्ट ऐंड रोड पहल का हिस्सा है, जिसके तहत चीन पाकिस्तान में 60 अरब डॉलर की लगात से कई परियोजनाओं को पूरा करेगा. पाकिस्तान के गृह मंत्री एहसान इकबाल ने एक बयान में कहा था कि इस साल इस परियोजना का पहला चरण शुरू हो जाएगा.

पाकिस्तान रेलवे के सेक्रटरी परवीन आघा ने एक इंटरव्यू में कहा था कि पिछले दशक में पाकिस्तान का रेल नटवर्क भ्रष्टाचार, देरी और गंदगी का पर्याय बन गया था। लेकिन अब पाकिस्तान रेलवे ने बीते 5 साल में अपनी कमाई दोगुनी कर के 40.1 अरब डॉलर कर ली है और इसे अगले पांच सालों में फिर से दोगुना करने का लक्ष्य है. आघा ने कहा, ‘यह हमारे लिए सबसे बड़े मौकों में से एक है। पूरे रेलवे सिस्टम का अपग्रेडेशन.’ 

‘ब्लूमबर्ग’ के मुताबिक, पेइचिंग कराची से पेशावर तक 1 हजार 163 मील रेल पटरी को अपग्रेड करने का काम करने वाला है. यह रेल लाइन अफगान सीमा से सटती है और इसके लिए चीन ने पाकिस्तान को 8 अरब डॉलर का कर्ज दिया है. यह रेल लाइन चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के महत्वाकांक्षी बेल्ट ऐंड रोड पहल का हिस्सा है, जिसके तहत चीन पाकिस्तान में 60 अरब डॉलर की लगात से कई परियोजनाओं को पूरा करेगा. पाकिस्तान के गृह मंत्री एहसान इकबाल ने एक बयान में कहा था कि इस साल इस परियोजना का पहला चरण शुरू हो जाएगा.

You May Also Like

English News