पाटीदार नेता हार्दिक पटेल आज समाप्त कर सकते हैं आमरण अनशन

आरक्षण, किसानों की कर्ज माफी व राजद्रोह के आरोपित युवा पाटीदार अल्पेश कथीरिया को जेलमुक्त करने की मांग को लेकर 19 दिन से आमरण अनशन कर रहे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल बुधवार दोपहर उपवास समाप्त कर सकते हैं। उनके साथियों ने बताया कि खोडलधाम प्रमुख नरेश पटेल हार्दिक को जूस पिलाकर अनशन पूर्ण कराएंगे।

पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के संयोजक हार्दिक पटेल पिछले बीस दिनों से अपनी तीन मांगों को लेकर अनशन कर रहे हैं। गत सप्ताह वे चार दिन अस्पताल में भी भर्ती रहे, लेकिन उपवास नहीं तोड़ा।

पाटीदार समिति के प्रवक्ता मनोज पनारा ने बताया कि बुधवार दोपहर गांधीनगर में राज्य सरकार के मंत्रीसमूह की बैठक में होने वाले विशेष निर्णय के बाद हार्दिक कभी भी अनशन समाप्त करने की घोषणा कर देंगे। पनारा ने कहा कि सरकार सीधे वार्ता को तैयार नहीं है, लेकिन समाज को हार्दिक की जरूरत है इसलिए अनशन को आगे बढ़ाकर हार्दिक की जान जोखिम में नहीं डाल सकते।

हार्दिक पटेल से अमित जोगी ने की मुलाकात

अहमदाबाद में अनशन पर बैठे हार्दिक पटेल से जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के सुप्रीमो अजीत जोगी के पुत्र व मरवाही के विधायक अमित जोगी ने मुलाकात की। अमित ने कहा कि हार्दिक पटेल निडरता से हिटलरशाही ताकतों का सामना कर रहे हैं। वह देश के युवाओं के प्रेरणा स्रोत हैं। उनकी लड़ाई अहंकार और अधिकार के बीच की है। उन्होंने कहा कि जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ और हार्दिक का मिशन, विजन और अपोजिशन एक है। जिस तरह से हार्दिक गुजरात के स्थानीय पाटीदार युवाओं को आरक्षण देने की मांग कर रहे हैं।

ठीक उसी तरह हमारी पार्टी भी छत्तीसगढ़ के स्थानीय युवाओं को 90 प्रतिशत आरक्षण देने और किसानों के लिए पूर्ण ऋण माफी की मांग कर रही है। हार्दिक पटेल खुद के लिए नहीं दूसरों के लिए लड़ रहे हैं। देश को हार्दिक पटेल जैसे युवाओं की जरूरत है। अमित जोगी ने उनसे अपने स्वास्थ्य को देखते हुए अनशन समाा कर छत्तीसगढ़ समते पूरे देश का दौरा करने की बात कही है। अमित जोगी ने हार्दिक को गुलाबी गमछा और हल चलाता किसान चिन्ह भेंट किया। साथ ही उन्हें जोगी का समर्थन पत्र सौंपकर छत्तीसगढ़ आने का आग्रह किया।

अस्पताल से हार्दिक को छुट्टी

अनशन के दौरान तबीयत बिगड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती कराए गए पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को रविवार को अस्पताल से छुट्टी मिल गई। घर पहुंचे हार्दिक ने फेसबुक लाइव मैसेज में तीनों मांगें पूरी होने तक अनशन जारी रखने का एलान किया। हार्दिक के घर के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है।

गौरतलब है कि स्वास्थ्य बिगड़ने के बाद हार्दिक को शुक्रवार को सोला सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालांकि, रात में ही समर्थकों ने उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती करा दिया था। घर पहुंचे हार्दिक ने ट्वीट करके आरोप लगाया है कि पुलिस उसे जान से मारने की धमकी दे रही है। हार्दिक ने अपने घर के आसपास पुलिस बल की तैनाती की तुलना अंग्रेजी हुकूमत से की और कहा कि यहां वाघा बार्डर जैसा दृश्य है।

इस दौरान कुछ पत्रकारों ने जब जबरदस्ती घर में घुसने की कोशिश की तो पुलिस ने हल्का बल प्रयोग भी किया। इस बीच, हार्दिक के समर्थन में पाटन से ऊंझा तक बड़ी संख्या में लोगों ने जुलूस निकाला। जुलूस में कांग्रेस के दो विधायक भी शामिल थे।

You May Also Like

English News