पिछले 25 सालों से पत्ते खाकर जिंदगी गुजार रहा ये पाकिस्तानी

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में रहने वाला एक व्यक्ति अत्यंत गरीबी के कारण पिछले 25 सालों से पेड़ों की पत्तियां और टहनियां खाकर जिंदगी गुजार रहा है। खबरों के मुताबिक, गुजरावालां जिले के महमूद बट्ट के पास कोई काम नहीं था और उसके पास खाना जुटाने तक के लिए पैसे नहीं थे, इसलिए उसने जीवित रहने के लिए पत्तियां खानी शुरू कर दी।

विरोध का अजीबों गरीब ढंग, किसानों ने पीया मूत्र!

हैरानी की बात यह है कि वह इतने सालों से पत्तियां खाने के बावजूद कभी बीमार नहीं पड़ा।

बट्ट ने कहा, “मेरा परिवार बेहद गरीब है। मेरे लिए खाना जुटाना भी बेहद मुश्किल था, इसलिए मैंने सोचा कि सड़क पर भीख मांगने से बेहतर है कि मैं पत्तियां और टहनियां खाकर ही गुजारा कर लूं।”

कई सालों बाद काम मिलने और आर्थिक स्थिति बेहतर होने के बावजूद अब भी उनकी यह अनोखी आदत वैसी ही बनी हुई है।

बट्ट ने कहा, “लकड़ी और पत्तियां खाना अब मेरी आदत में शुमार है।”

बट्ट के पड़ोसियों ने कहा कि अब वह हर रोज 600 पाकिस्तानी रुपये कमाता है, लेकिन वह हर जगह ताजी पत्तियों और टहनियों की तलाश में रहता है।

उसके पड़ोसी गुलाम मोहम्मद ने कहा, “वह किसी भी समय सड़क किनारे अपनी गधा गाड़ी रोककर पेड़ की ताजी टहनियां खाने लगता है।”

बट्ट अपनी इस अनोखी आदत और उसके बावजूद कभी बीमार न पड़ने के कारण अपने इलाके में खासा लोकप्रिय है।

मोहम्मद ने कहा, “उसे कभी भी किसी डॉक्टर के पास नहीं जाना पड़ा। हमें भी यह देखकर हैरानी होती है कि इतने सालों से पत्तियां और टहनियां खाने के बावजूद कोई व्यक्ति स्वस्थ कैसे रह सकता है।

You May Also Like

English News