पिता नक्‍सली, लेकिन यह बेटा बनना चाहता है पुलिसवाला

नागपुर। वैसे तो बच्‍चें अपने माता-पिता के नक्‍शे कदम पर चलना पसंद करते हैं और हर‍ पिता अपने बेटे को अपनी ही तरह बनाना चाहता है। लेकिन महाराष्‍ट्र में एक व्‍यक्ति ने जब बंदूक उठाकर नक्‍सली बनने की राह चुनी थी तो उसने कभी नहीं सोचा था कि उसका बेटे उससे अलग रास्‍ते पर कदम रखेगा।

पिता नक्‍सली, लेकिन यह बेटा बनना चाहता है पुलिसवाला

भाभी के साथ रात गुजारने वाले पति का विरोध करने पर पत्नी को मिली भयानक सजा

गढ़चिरोली जिले के अहेरी तालुका में एक नक्‍सली दंपति का बेटा उनकी तरह नक्‍सली नहीं बल्कि एक पुलिसवाला बनने के सपने देख रहा है। एक अंग्रेजी अखबार के अनुसार 13 साल का बालाजी(बदला हुआ नाम) हाल ही में गढ़चिरोली पुलिस और ट्रायबल डेवलपमेंट डिपार्टमेंट द्वारा आयोजित आपला महाराष्‍ट्र टूर में शामिल हुआ था। यही वो समय था जब उसने एक पुलिसवाला बनने का निर्णय लिया।

उसके पिता वसंत को तीन साल पहले पुलिस ने गिरफ्तार कर चंद्रपुर जेल में रखा हुआ है वहीं उसकी मां कमला फरार है। उसकी अंत‍िम लोकेशन छ‍‍त्‍तीसगढ़ के दलमा में मिली थी। बालाजी को याद है कि जब वो सात साल का था तब आखिरी बार उसकी मां उससे मिलने के लिए आई थी वहीं वो अपने पिता से पिछले साल जेल में मिलने गया था। वसंत ने बेटे से कहा था कि जब भी वो अपनी मां से मिले तो पुलिस के सामने समर्पण करने के लिए कहे।

सालों गांव में बिताने के बाद जब बालाजी को मुंबई, पुणे और औरंगाबाद जैसे शहर देखने को मिले तो उसे काफी कुछ नई बातें पता लगीं। आईजी शिवाजी बोडके के अनुसार ट्रायबल बच्‍चों को इतना मौका नहीं मिलता कि वो शहर के बच्‍चों की तरह चीजें को देख और समझ सकें। अपने गांव के बाहर जिंदगी देखकर बालाजी को प्रेरणा मिली है और अब वो पुलिस फोर्स में शामिल होना चाहता है।

फेसबुक से भी कमा सकते हैं लाखो रूपये, बस करना होगा आपको ये काम..

फिलहाल यह बच्‍चा अपने दादा-दादी के साथ रहता है। उसके अनुसार मेरे परिवार में सभी लो मजदूरी करते हैं और इसी से पेट पलता है। बालाजी अभी गढ़चिरोली की आश्रमशाला में पढ़ाई कर रहा है। यहां का‍ विभाग पुलिस के साथ मिलकर पुलिस भर्ती के लिए कैंप लगाता है और जब बालाजी 18 साल का हो जाएगा तो उसे इसमें शामिल किया जाएगा।

You May Also Like

English News