पिपलियामंडी में आक्रोशित किसानों ने शेड के बाहर फेंका माल

लहसुन की विख्यात मंडी में शुमार पिपलिया कृषि उपज मंडी में रविवार को किसान आक्रोशित हो गए। किसानों ने शेड में पड़े व्यापारियों के माल को बाहर फेंक दिया। मंडी में हंगामे की सूचना पर पुलिस पहुंची और आक्रोशित किसानों को शांत किया। मंडी प्रशासन ने व्यापारियों को दो बजे तक माल हटाने का अल्टीमेटम दिया है। गौरतलब है कि व्यापारियों के माल से टीन शेड व सीसी शेड भरे पड़े रहते हैं।लहसुन की विख्यात मंडी में शुमार पिपलिया कृषि उपज मंडी में रविवार को किसान आक्रोशित हो गए। किसानों ने शेड में पड़े व्यापारियों के माल को बाहर फेंक दिया। मंडी में हंगामे की सूचना पर पुलिस पहुंची और आक्रोशित किसानों को शांत किया। मंडी प्रशासन ने व्यापारियों को दो बजे तक माल हटाने का अल्टीमेटम दिया है। गौरतलब है कि व्यापारियों के माल से टीन शेड व सीसी शेड भरे पड़े रहते हैं।  व्यापारियों का माल महीनों तक शेड में ही पड़े रहने से दूरदराज से उपज लेकर पहुंचने वाले किसानों को अपना लहसुन खुले में खाली करना पड़ता है। जिससे बारिश के दिनों में परेशानी होती है। शनिवार देर रात भी व्यापारियों और किसानों में कहा सुनी हुई थी। रविवार को किसानों ने माल शेड से बाहर फेकना शुरू कर दिया। उपनिरीक्षक दिलीप राजोरिया मंडी कर्मी कमलेश जैन पहुंचे और किसानों को समझाइश दी। मंडीकर्मी ने मंडी प्रांगण में मुनादी करवाकर व्यापारियों से दो बजे तक माल उठवा लेने की सूचना की है।

व्यापारियों का माल महीनों तक शेड में ही पड़े रहने से दूरदराज से उपज लेकर पहुंचने वाले किसानों को अपना लहसुन खुले में खाली करना पड़ता है। जिससे बारिश के दिनों में परेशानी होती है। शनिवार देर रात भी व्यापारियों और किसानों में कहा सुनी हुई थी। रविवार को किसानों ने माल शेड से बाहर फेकना शुरू कर दिया। उपनिरीक्षक दिलीप राजोरिया मंडी कर्मी कमलेश जैन पहुंचे और किसानों को समझाइश दी। मंडीकर्मी ने मंडी प्रांगण में मुनादी करवाकर व्यापारियों से दो बजे तक माल उठवा लेने की सूचना की है।

You May Also Like

English News