अभी-अभी: मोदी बोले एक वार से बर्बाद हो जाएंगे भारत के दुश्मन, ये है मास्टर प्लान….

नई दिल्ली। आने वाला समय भारत के लिए रक्षा क्षेत्र के लिहाज से काफी बेहतरीन साबित होने वाला है। दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी जुलाई माह में इजरायल की यात्रा पर जाने वाले हैं और इससे पहले ही दोनों देशों के बीच रक्षा समझौतों पर सहमति बनती दिख रही है जिसके अंतर्गत कई बड़े फैसले लिए जा सकते हैं। खबरों के मुताबिक इस यात्रा के दौरान होने वाली एंटी टैंक मिसाइल्‍स और नेवल एयर डिफेंस सिस्‍टम के लिए होने वाली डील की सूचना अभी गुप्‍त ही रखी जा रही है।

अभी-अभी: मोदी बोले एक वार से बर्बाद हो जाएंगे भारत के दुश्मन, ये है मास्टर प्लान....

अभी अभी: इस बड़ी लापरवाही से हुई चूक ने छुड़ा दिए सिएम योगी के पसीने…

पीएम मोदी पहले ऐसे भारतीय प्रधानमंत्री होंगे जो इजरायल यात्रा पर जा रहे हैं। वहीं इजरायल से रक्षा उपकरणों के आयात के मामले में भारत का पहला स्थान है। सीनियर एशिया एनालिस्‍ट शैलेष कुमार का कहना है कि पीएम मोदी की यह यात्रा भारत के लिए मील का पत्‍थर साबित होगी। क्योंकि दोनों देशों के अधिकारियों को बाहर से आतंकवाद ही सबसे बड़ा खतरा है। खबरों के मुताबिक भारतीय सेना के लिए स्‍पाइक एंटी टैंक मिसाइल्‍स और भारतीय नेवी के लिए बराक-8 एयर मिसाइल्‍स की डील अगले दो महीनों में पूरी हो जाएगी। लगभग डेढ़ बिलियन डॉलर के बड़े सौदे के बाद अगले दो सालों के भीतर 8,000 मिसाइलें भारत आएंगी।

बड़ी खबर: योगी सरकार ने किया बड़ा फेरबदल, बदल दिये पूरे…

इससे पहले भारत ने पिछले सप्ताह ही लगभग 2 बिलियन डॉलर के मध्‍यम और लंबी रेंज की जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइलों का सौदा पूरा किया है। ये सभी सौदे पीएम मोदी के 250 बिलियन डॉलर के प्लान के तहत वर्ष 2025 तक सेना को आधुनिक का हिस्‍सा हैं। बता दें कि केंद्र में सत्‍तासीन होने के बाद से ही पीएम मोदी ने इजरायल के साथ भारत के रिश्‍तों पर तेजी से काम किया है। 

इन सभी सौदे के तहत एक बात जो भारत के लिहाज से सबसे ज्यादा खास है वो ये कि ये सौदे पीएम मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम का ही हिस्‍सा हैं। इजरायल से स्‍पाइक मिसाइलों की खरीद के लिए भारत के रक्षा अधिग्रहण काउंसिल ने अक्‍टूबर 2014 में मंजूरी दी थी। साथ ही साथ बराक-8 की खरीद के लिए भी इसी साल तीन अप्रैल को हामी भरी गई थी।

You May Also Like

English News