पीएम मोदी का 5 दिवसीय विदेश दौरा आज से

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने 5 दिवसीय विदेशी दौरे पर जा रहे हैं, अपनी इस यात्रा के दौरान पीएम मोदी  इंडोनेशिया, मलेशिया और सिंगापुर की यात्रा करेंगे. पीएम के इस दौरे को एक्ट ईस्ट पॉलिसी के तहत दक्षिणपूर्व एशिया के साथ संबंधों को बढ़ाने के लिए भारत के प्रयासों के रूप में देखा जा रहा है. इस बात की जानकारी विदेश मंत्रालय ने दी है, मंत्रालय ने कहा है कि पीएम जकार्ता और सिंगापुर में  द्विपक्षीय बैठकें, प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता, व्यापार और भारतीय समुदायों के साथ बैठकें करेंगभारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने 5 दिवसीय विदेशी दौरे पर जा रहे हैं, अपनी इस यात्रा के दौरान पीएम मोदी  इंडोनेशिया, मलेशिया और सिंगापुर की यात्रा करेंगे. पीएम के इस दौरे को एक्ट ईस्ट पॉलिसी के तहत दक्षिणपूर्व एशिया के साथ संबंधों को बढ़ाने के लिए भारत के प्रयासों के रूप में देखा जा रहा है. इस बात की जानकारी विदेश मंत्रालय ने दी है, मंत्रालय ने कहा है कि पीएम जकार्ता और सिंगापुर में  द्विपक्षीय बैठकें, प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता, व्यापार और भारतीय समुदायों के साथ बैठकें करेंगे.    वहीं पीएम मोदी ने कहा है कि इन तीनों देशों से भारत के सम्बन्ध मजबूत हैं, इस दौरे के बाद भारत के इन देशों से सम्बन्ध और प्रगाढ़ हो जाएंगे, जो एशिया में भारत के लिए बहुत अहम् रहेंगे. अपने विदेश दौरे की शुरुआत में आज पीएम मोदी इंडोनेशिया पहुंचेंगे, जिसके अगले दिन वे इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो के साथ जकार्ता में होने वाले शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे. जिसके बाद दोनों नेता म्यूजियम लायांग लायांग ऑफ जकार्ता और काइट म्यूजियम ऑफ अहमदाबाद की तरफ से आयोजित काइट महोत्सव का संयुक्त रूप से उद्घाटन करेंगे.    इसके बाद पीएम 31 मई को मलेशिया पहुंचेंगे, जहाँ वे निर्वाचित मलेशियाई प्रधानमंत्री महाथिर मोहमद से मुलाकात करेंगे. उसी दिन वे वहां से सिंगापुर पहुंचेंगे और भारत-सिंगापुर उद्यम और अभिनव प्रदर्शनी का दौरा कर अपने आधिकारिक दौरे की शुरुआत करेंगे. इसके बाद 1 जून को वे सिंगापुर की राष्ट्रपति हलीमा याकूब से मिलेंगे और उसके बाद पीएम ली सियन लूंग के साथ शिखर सम्मेलन करेंगे. 2 जून को पीएम मोदी महात्मा गांधी की एक पट्टिका का अनावरण करेंगे और भारत और सिंगापुर को जोड़ने वाली कुछ सांस्कृतिक स्थलों का दौरा करेंगे, जिसके बाद वे स्वदेश लौट आएँगे

वहीं पीएम मोदी ने कहा है कि इन तीनों देशों से भारत के सम्बन्ध मजबूत हैं, इस दौरे के बाद भारत के इन देशों से सम्बन्ध और प्रगाढ़ हो जाएंगे, जो एशिया में भारत के लिए बहुत अहम् रहेंगे. अपने विदेश दौरे की शुरुआत में आज पीएम मोदी इंडोनेशिया पहुंचेंगे, जिसके अगले दिन वे इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो के साथ जकार्ता में होने वाले शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे. जिसके बाद दोनों नेता म्यूजियम लायांग लायांग ऑफ जकार्ता और काइट म्यूजियम ऑफ अहमदाबाद की तरफ से आयोजित काइट महोत्सव का संयुक्त रूप से उद्घाटन करेंगे.

इसके बाद पीएम 31 मई को मलेशिया पहुंचेंगे, जहाँ वे निर्वाचित मलेशियाई प्रधानमंत्री महाथिर मोहमद से मुलाकात करेंगे. उसी दिन वे वहां से सिंगापुर पहुंचेंगे और भारत-सिंगापुर उद्यम और अभिनव प्रदर्शनी का दौरा कर अपने आधिकारिक दौरे की शुरुआत करेंगे. इसके बाद 1 जून को वे सिंगापुर की राष्ट्रपति हलीमा याकूब से मिलेंगे और उसके बाद पीएम ली सियन लूंग के साथ शिखर सम्मेलन करेंगे. 2 जून को पीएम मोदी महात्मा गांधी की एक पट्टिका का अनावरण करेंगे और भारत और सिंगापुर को जोड़ने वाली कुछ सांस्कृतिक स्थलों का दौरा करेंगे, जिसके बाद वे स्वदेश लौट आएँगे

You May Also Like

English News