‘पीएम सर्जिकल स्ट्राइक के लिए शाबाशी चाहते हैं, सब प्लान है’

हाल ही में हुए कर्नाटक चुनाव के बाद जब से वहां कांग्रेस और जेडीएस की सरकार बनी है, तब से ही दोनों पार्टियों के बीच अंदरूनी विवाद खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. हाल ही में हुए मंत्रिमंडल के विवाद के बाद, यहाँ पर हाल ही में पेश होने वाले बजट को लेकर भी विवाद हुआ था. वहीं अब कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने फिर एक विवाद खड़ा कर दिया है. हाल ही में हुए कर्नाटक चुनाव के बाद जब से वहां कांग्रेस और जेडीएस की सरकार बनी है, तब से ही दोनों पार्टियों के बीच अंदरूनी विवाद खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. हाल ही में हुए मंत्रिमंडल के विवाद के बाद, यहाँ पर हाल ही में पेश होने वाले बजट को लेकर भी विवाद हुआ था. वहीं अब कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने फिर एक विवाद खड़ा कर दिया है.   एक इंटरव्यू के दौरान कांग्रेस के दिग्गज नेता सिद्धारमैया से गठबंधन की सरकार को लेकर प्रश्न किया गया तो उसका जवाब देते हुए सिद्धारमैया थोड़े असहज लगे. सिद्धारमैया से पूछा गया कि क्या गठबंधन की यह सरकार अपना कार्यकाल पूरा कर पाएगी?  सिद्धारमैया ने इसके जवाब में कहा कि सरकार का पांच साल तक टिका रह पाना तो मुश्किल है लेकिन हाँ 2019 लोकसभा चुनाव तक तो सब ठीक है उसके बाद देखते है क्या हो सकता है.   हालाँकि ठीक इस तरह की बात पूर्व में जेडीएस के नेता और कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी भी कर चुके है. कुमारस्वामी ने कुछ दिनों पहले एक बातचीत में ठीक इसी सवाल के जवाब में कहा था कि "कांग्रेस और जेडीएस की सरकार को 2019 के चुनावों तक कोई खतरा नहीं है." दोनों नेताओं के इस तरह के बयानों के बाद कयास लगाए जा रहे है, जरूर कुछ तो लोचा है, कर्नाटक की सरकार में.

एक इंटरव्यू के दौरान कांग्रेस के दिग्गज नेता सिद्धारमैया से गठबंधन की सरकार को लेकर प्रश्न किया गया तो उसका जवाब देते हुए सिद्धारमैया थोड़े असहज लगे. सिद्धारमैया से पूछा गया कि क्या गठबंधन की यह सरकार अपना कार्यकाल पूरा कर पाएगी?  सिद्धारमैया ने इसके जवाब में कहा कि सरकार का पांच साल तक टिका रह पाना तो मुश्किल है लेकिन हाँ 2019 लोकसभा चुनाव तक तो सब ठीक है उसके बाद देखते है क्या हो सकता है. 

हालाँकि ठीक इस तरह की बात पूर्व में जेडीएस के नेता और कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी भी कर चुके है. कुमारस्वामी ने कुछ दिनों पहले एक बातचीत में ठीक इसी सवाल के जवाब में कहा था कि “कांग्रेस और जेडीएस की सरकार को 2019 के चुनावों तक कोई खतरा नहीं है.” दोनों नेताओं के इस तरह के बयानों के बाद कयास लगाए जा रहे है, जरूर कुछ तो लोचा है, कर्नाटक की सरकार में. 

You May Also Like

English News