पुलिसकर्मी बन टप्पेबाजों ने ठगे जेवरात

लखनऊ: नाका इलाके में पुलिसकर्मी बने दो टप्पेबाज एक कारोबारी की मां व बहन से सोने की चेन व कंगन लेकर फरार हो गये। टप्पेबाजों ने ठगी की इस वारदात को पुलिस चेकिंग के नाम पर अंजाम दिया। फिलहाल नाका पुलिस ने इस मामले में चोरी व धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कर ली है और सीसीटीवी फुटेज की मदद से टप्पेबाजों का पता लगा रही है।
नाका के राजेन्द्रनगर इलाके में कारोबारी मनोज जैन अपने परिवार के साथ रहते हैं। बताया जाता है कि रविवार की सुबह उनकी मां सरस्वती व बहन रेनू जैन मंदिर दर्शन के लिए गयी थी। दोनों मां-बेटी मंदिर से दर्शन कर रिक्शे से वापस घर लौट रहीं थी। रास्ते में सुभाष मार्ग के पास दो लोगों ने उनके रिक्शे को रोक लिया।

दोनों ने खुद को पुलिस कर्मी बताया और इलाके में बढ़ती हुई लूट व चोरी की बात कहते हुए चेकिंग के लिए कहा। इसके बाद दोनों टप्पेबाजों ने सरस्वती व रेनू से चेन व कंगन उतार कर अपने पास रखने की हिदायत दी। सिर्फ इतना ही नहीं दोनों उन लोगों से चेन व कंगन खुद अपने हाथ में ले लिया और एक कागज के टुकड़े में लपेट कर कुछ देर के बाद उनको वापस कर दिया। सरस्वती व उनकी बेटी रेनू जब घर पहुंचे और कागज खोल कर देखा तो उसमे एक भी जेवरात नहीं थे।

दोनों ने इस बात की खबर कारोबारी मनोज को दी। टप्पेबाजी की बात पता चलने पर कारोबारी ने फौरन सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को दी। सूचना पाकर नाका पुलिस भी कारोबारी के घर पहुंच गयी। इसके बाद पुलिस ने टप्पेबाजों को इधर-उधर काफी तलाशा पर उनका कोई पता नहीं चल सका। इस मामले में पुलिस ने कारोबारी की तहरीर पर अज्ञात टप्पेबाजों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। पुलिस जैन मंदिर से लेकर सुभाष मार्ग के बीच लगे सीसीटीवी कैमरों की मदद से टप्पेबाजों को तलाश में लगी है।

You May Also Like

English News