पुलिसवालों के बीच उतार दिए गये लड़की के कपड़े, हुई छेड़छाड़

महिला सुरक्षा के मामले में दिल्ली ही नहीं बेंगलुरु भी फिसड्डी ही साबित होता दिख रहा है। 31 दिसंबर की रात बेंगलुरु के एमजी रोड और ब्रिगेड रोड पर न्यू इयर का वेलकम करने के लिए हजारों लोग जुटे। इनमें महिलाएं-बच्चे भी शामिल थे लेकिन अचानक रात 11 बजे सड़कों पर हुड़दंगियों ने महिलाओं को छूना और उन पर भद्दे कमेंट्स करना शुरू कर दिया। यह सब तब हुआ जब पूरे इलाके में 1500 पुलिसवाले तैनात थे। इस पूरे मामले की तस्वीरें सामने आने के बाद भी कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है।

बड़ी खबर: मोसुल से फिर भाग गया बगदादी

हर साल इस इलाके में हजारों लोग न्यू इयर सेलिब्रेशन के लिए जुटते हैं। हालांकि पुलिस ने पहले दावा किया था कि इलाके में किसी भी घटना से निपटने के लिए उन्होंने पूरी व्यवस्था की है लेकिन ऐसा लगता है जैसे पुलिस ने बदमाशों की फितरत को कम कर के आंका था।

बड़ी खबर: पीएम नरेन्द्र मोदी के ऐलान के बाद बिका 4000 किलो सोना

उस वक्त सारी हदें पार हो गईं जब आधी रात कुछ बदमाश पार्टी में शामिल हुए और महिलाओं को जहां-तहां हाथ लगाने लगे, उन्हें मॉलेस्ट करने लगे। स्थिति यह हो गई कि सेलिब्रेशन में आईं महिलाएं अपनी सैंडल्स उतार कर मदद के लिए भागने लगीं।

कोई केस दर्ज नहीं
मामले की फोटो और प्रत्यक्षदर्शी होने के बावजूद पुलिस ने आधिकारिक तौर पर कहा है कि अभी तक एक भी एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। हैरानी की बात यह है कि शहर के डेप्युटी कमिशनर संदीप पाटिल जिनके अंदर ब्रिगेड रोड और एमजी रोड आता है, ने कहा कि महिलाओं ने पुलिस से मदद तो मांगी लेकिन वह इसलिए क्योंकि ये अपने परिवारवालों से अलग हो गईं थीं और उन्हें खोज नहीं पा रहीं थीं। उन्होंने बताया कि अभी तक मॉलेस्टेशन का कोई केस दर्ज नहीं किया गया है।
हालांकि, सड़कों पर तैनात पुलिसकर्मियों का कुछ और ही कहना है। चर्च स्ट्रीट पर तैनात एक महिला पुलिसकर्मी ने बताया कि कुछ बदमाशों ने एक महिला को नशे में देख उसके कपड़े उतार दिए और उससे छेड़छाड़ की। पुलिस डिपार्टमेंट के मुताबिक एमजी रोड और ब्रिगेड रोड इलाके में करीब 1500 पुलिसकर्मी तैनात थे। महिला पुलिसकर्मी ने कहा, ‘महिला को इस तरह की बेबस देखना बहुत परेशान करता है।’

You May Also Like

English News